अल्लामा इकबाल ने बरसों पहले सही कहा था कि ,न संभलोगे तो पिट जाओगे, अय मुसलमानों, तुम्हारी दास्तानें भी न होगी दास्तानों में, तोको और नहीं-मोको ठौर नहीं सी.ई.ओ. वक्फ बोर्ड: रिजवी

Raipur 29/08/2020। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख एवं मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने प्रदेश की वक्फ सम्पत्ति की अफरातफरी में माहिर वर्तमान बोर्ड के सी.ई.ओ. की शासन-प्रशासन में पकड़ को अद्भुत निरूपित करते हुए कहा है कि बोर्ड के सी.ई.ओ. ने भाजपा शासनकाल में अपने हुनर के दम पर इस पद पर लगभग 12 वर्षों तक पद की पात्रता के विपरीत प्रतिनियुक्ति के अंतर्गत उक्त पद पर जमे हुए थे और कांग्रेस शासन में उनके वक्फ सम्पत्ति के घालमेल से प्रभावित होकर कांग्रेस के ही रसूखदार मुख्यमंत्री के नजदीकी बिचौलियों ने उन्हें दिग्भ्रमित कर पुनः सी.ई.ओ. के पद पर बिठा दिया है ताकि भाजपा शासनकाल के पदाधिकारियों को बचाया जा सके जो यह सिद्ध करता है कि सी.ई.ओ. पशु चिकित्सक साजिद अहमद फारूकी इस मुहावरे के पर्याय बन चुके हैं कि तोको और नहीं-मोको ठौर नहीं। फारूकी के विरूद्ध लम्बित जांच को ऐनकेन प्रकारेण रूकवाया जा रहा है।

रिजवी ने कहा है कि उक्त सी.ई.ओ. ने बोर्ड में करोड़ों का घोटाला कर शासन को चूना लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। मुसलमानों के तथाकथित कौम के लीडर कुंभकरणी नींद में सोए हुए हैं। उन्हें वक्फ सम्पत्ति की हिफाजत के लिए जागने का समय आ गया है वरना अल्लामा इकबाल ने बरसों पहले सही कहा था कि न संभलोगे तो पिट जाओगे, अय मुसलमानों, तुम्हारी दास्तानें भी न होगी दास्तानों में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *