Wednesday, September 23

कवर्धा लूटकांड,सेठ का कर्मचारी मनोज कश्यप ही निकला मास्टरमाइंड

  1. H
    कवर्धा _ गुरुवार को हुई 71 लाख की लूट का हुआ खुलासा 71 लाख रुपए लूट के मामले में 6 आरोपी गिरफ्तार अन्य साथी है फरार,
    लूट की रकम में से करीब 68.50 लाख भी बरामद
    कावर्धा – 9 जुलाई को कवर्धा बिलासपुर मार्ग में थाना कुंडा के पास जंगलपुर के पास हुई 71.57 लाख रु के लूट के मामले में पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गुरुवार को शीतांशु राइस मिल के संचालक मुन्ना उर्फ दिलीप अग्रवाल को बिलासपुर में किसी पार्टी को भुगतान करना था इसलिए उन्होंने अपने दो भरोसेमंद कर्मचारी मनोज कश्यप गाड़ी चला रहा था और पारस यादव को 71.57 लाख रुपये देकर दो पहिया वाहन में बिलासपुर रवाना किया था । यह दोनों जब ग्राम जंगलपुर के पास पहुंचे तो दो अलग-अलग मोटरसाइकिल पर सवार कुछ लुटेरे आए और कट्टे की नोक पर कर्मचारियों से रुपए से भरी बोरी लेकर बिलासपुर रॉड कुंडा फास्टरपुर की ओर भाग गए। बताया जा रहा है कि दोनों कर्मचारियों की आंखों में इन लोगों ने मिर्च पाउडर झोंक दिया था। घटना की सूचना मिलने के बाद से ही पुलिस ने टीम चारों तरफ नाकेबंदी कर आरोपियों की तलाश कर 24 घंटे के भीतर ही पुलिस मामले का खुलासा कर सफलता पाई ।
    बताया जा रहा है कि मामले में मुन्ना अग्रवाल के कर्मचारी मनोज कश्यप के बार बार बदलते बयान पर संदेह से कड़ाई से पूछताछ की गई तो दिलीप और नारायण चंद्रवंशी के साथ शराब पीने के दौरान सेठ का लाखो रुपया प्रति सप्ताह बिलासपुर भाटापारा ले जाने की चर्चा की और लूट की योजना में संजय और दीप चनद्रवंशी को शामिल किया गया । पुलिस ने पांच आरोपियों मनोज कश्यप मुख्य आरोपी, दीपचंद चंद्रवंशी , संजय चंद्रवंशी कंझेटा ,पिंकी चनद्रवंशी पत्नी नारायण चंद्रवंशी कवर्धा, मुकेश चंद्रवंशी , दिलीप चंद्रवंशी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, एक आरोपी नारायण चंद्रवंशी फरार है । संजय , दीप चंद , मुकेश और नारायण चनद्रवंशी की पत्नी के पास से 68 . 50 लाख रुपये भी पुलिस को मिल गए हैं। शेष रकम के साथ अभी भी एक आरोपी फरार है जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। पकड़े गए आरोपियों के पास से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस जल्द ही उन तक भी पहुंचने का दावा कर रही है ।इन लुटेरों को कैसे सूचना मिली की दोनों कर्मचारी अपने साथ इतनी बड़ी रकम लेकर जा रहे हैं, पुलिस इसका भी पता लगा रही है क्योंकि एक दिन पहले ही बुधवार को मुन्ना अग्रवाल ने बैंक से कैश निकलवाया था जिसकी जानकारी हर किसी को नहीं हो सकती। पूरे मामले में कर्मचारियों की मिलीभगत पर भी अभी तक क्लीन चिट नहीं मिली है । वहीं पुलिस ने 24 घंटे के भीतर मामले को सुलझा कर बड़ी सफलता हासिल की है।
    पुलिस ने मामले को लेकर प्रेस कांफ्रेन्स लेकर खुलासा किया । आरोपियों के खिलाफ धारा 393, 414,120 बी 25 आर्म एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर फरार आरोपियों को तलाश किया जा रहा है । मामला इनकम टैक्स को भी सूचित किया जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *