Wednesday, September 23

महासमुंद कोरोना काल में विशेष ई-लोक अदालत के माध्यम से पक्षकारों को पहुंची राहत 

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमुंद

महासमुंद – जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, महासमुंद के सचिव, मोहम्मद जहाँगीर तिगाला द्वारा जानकारी दी गई कि कोरोना काल में जहां दिन-प्रतिदिन के कार्य प्रभावित हुए है,

वही छत्तीसगढ़ राज्य में न्यायपालिका ने ई-लोक अदालत का सफलतापूर्वक आयोजन कर न्याय के क्षेत्र में नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं। भारत वर्ष में पहली बार ई-लोक अदालत का आयोजन 11 जुलाई 2020 को किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण महासमुंद की अध्यक्ष एवं जिला न्यायाधीश, श्रीमती सुषमा सावंत, के कुशल मार्गदर्शन एवं नेतृत्व के अधीन जिला न्यायालय महासमुंद एवं तहसील पिथौरा, सरायपाली स्थित सिविल न्यायालयों में कुल 07 विशेष ई-खण्डपीठों की स्थापना की गई। जिनमें कुल-99 प्रकरण निराकृत और उनमें एक करोड़ 96 लाख 82 हजार 77 रुपए की राशि के आवर्ड राजीनामा के आधार पर पारित किए गए। उक्त ई-लोक अदालत में पक्षकारों एवं वकीलों ने न्यायालय में उपस्थित हुए बिना घरों से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के साधनों जैसे-जिट्सी मीट ऐप, व्हाट्सएप ऐप, गूगल मीट आदि के माध्यम से आपसी सहमति से प्रकरणों का निराकरण किया। समझौता योग्य दांडिक प्रकरण, पारिवारिक मामलें, मोटरयान दुर्घटना दावा, चेक बाउंस के प्रकरण आदि धन संबंधी मामले जो सामान्य लोक अदालतों के माध्यम से निराकृत हो जाते, कोरोना संक्रमण के चलते न्यायिक कामकाज प्रभावित होने से निराकृत नहीं हो पा रहे थे, परंतु आज आयोजित ई-लोक अदालत के माध्यम से वकील एवं पक्षकारों को आर्थिक राहत प्राप्त हुई। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, महासमुंद के अध्यक्ष  सुषमा सावंत जिला के मार्गदर्शन में जिला महासमुंद में विशेष ई-लोक अदालत को ऐतिहासिक सफलता प्राप्त हुई। उल्लेखनीय है कि, ई-लोक अदालत के सफल संचालन हेतु महासमुंद जिला न्यायलय की वेब साइट पर लिंक की सहायता से पक्षकारों को घर बैठे मिली। सीधे विशेष ई-लोक अदालत की खण्डपीठ से जुड़ने में सहायता जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, महासमुंद की अध्यक्ष सुषमा सावंत जिला न्यायाधीश, महासमुंद  एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, महासमुंद के सचिव श्री मोहम्मद जहांगीर तिगाला के अथक प्रयासों से जिला मुख्यालय से लगभग 100 किलोमीटर दूर थाना बसना ग्रामीण अंचल गढ़फुलझर के गुलजार सिंह जटाल, जिला मुख्यालय से लगभग 80 किलोमीटर दूर थाना बसना ग्रामीण अंचल बिजेपुर के संजय कुमार पुरोहित, जिला मुख्यालय से लगभग 80 किलोमीटर दूर थाना बसना ग्रामीण अंचल जामताड़ा के युगल किशोर बंछोर एवं जिला मुख्यालय से लगभग 140 किलोमीटर दूर थाना पिथौरा ग्रामीण अंचल रजपालपुर के मिनिकेतन कश्यप के प्रकरणों का निपटारा ई-लोक अदालत के माध्यम से आपसी समझौता द्वारा कराकर उन्हें न्याय दिलाया गया।

इसी प्रकार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, महासमुंद की अध्यक्ष सुषमा सावंत जिला एवं सत्र न्यायाधीश, महासमुंद एवं तालुका विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष सुश्री- कामिनी जायसवाल व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-दो पिथौरा के अथक प्रयास से पिथौरा न्यायालय से लगभग 75 किलोमीटर दूर थाना सांकरा ग्रामीण अंचल नाम जुड़ा एवं विजेपुर के दो परिवारों का आपसी विवाद का निपटारा ई-लोक अदालत के माध्यम से आपसी समझौता कराकर उन्हें न्याय दिलाया गया।

उक्त समस्त पत्रकारों में पक्षकारों को समझाईश एवं सुलह हेतु वर्तमान कोरोना काल में न्यायालय में उपस्थित कराना संभव नहीं था। विशेष ई-लोक अदालत में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा पीठासीन अधिकारी द्वारा समझाईश दिये जाने पर इन प्रकरणों में समझौता संभव हो सका। माननीय जिला न्यायाधीश श्रीमती सुषमा सावंत के निर्देशानुसार उक्त सभी पक्षकारों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपस्थिति संबंधित थाना क्षेत्र के थाना प्रभारियों के प्रयासों से संभव हो सकी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *