कोरोना के कहर के बीच आरटीई भर्ती प्रक्रिया पर भड़के पालक

दुर्ग। लोक शिक्षण संचालनालय, रायपुर के द्वारा 6 जुलाई को एक पत्र जारी किया गया है कि शिक्षा का अधिकार कानून के अंतर्गत आवेदन करने की अंतिम तिथि 10 जुलाई और लॉटरी निकालने की तिथि 15 जुलाई निर्धारित किया गया है, जिसको लेकर अब छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन ने मोर्चा खोल दिया गया है, क्योकि प्रदेश के कई जिलों में कोरोना का कहर जारी है। कई जिलों में कई दिनों के लिए बंद कराया (टोटल लॉकडाउन) दिया गया है। राजनांदगांव शहर में कई वार्डो को कंटेंमेंट जोन बना दिया गया है और सील कर दिया गया है, क्योंकि इन वार्डो में संक्रमित लोगों और मरीजों की संख्या बढ़ते जा रहे है। सैकड़ों लोगों को कोरेंटाईन सेंटर में रखा गया है।
छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल का कहना है कि उच्च अधिकारियों को जिले में जिला शिक्षा अधिकारियों और कलेक्टरों से सलाह कर और जिलों की परिस्थितियों ने अनुसार निर्णय लिया जाना चाहिए, लेकिन शायद ऐसा हो नहीं रहा है, शायद सरकार स्कूल आरंभ करने में जल्दबाजी कर रही है जो उचित नहीं है। परिस्थितियां सामान्य होने तक विभाग को इंतजार करना चाहिए, लेकिन शायद प्राईवेट स्कूलों के दबाव में सरकार भर्ती प्रक्रिया आरंभ करने का निर्णय लिया गया है।
श्री पॉल ने संचालक को ई-मेल भेजकर निवेदन किया है, कि स्थिति सामान्य होने तक किसी भी प्रकार की भर्ती प्रक्रिया को स्थगित रखा जावे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *