Monday, September 28

गोधन न्याय योजना का आज होगा जिले में आगाज़

स्कूलों,आंगनबाड़ी औऱ गौठानो में 1 लाख 50 हज़ार पौधों का होगा रोपण
जिले के सभी गौठानो में होगी गोबर की खरीदी

रायपुर 19 जुलाई 2020/कलेक्टर डॉ एस. भारतीदासन के निर्देश पर आज हरेली के दिन जिले के गौठानो में शासन द्वारा निर्धारित दर पर गोबर की खरीदी की जाएगी।इसी तरह जिले के स्कूलों,आंगनबाड़ी केंद्रों और गौठानो में लगभग 1लाख 50 हज़ार पौधों का रोपण किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि रायपुर जिले में हरेली त्यौहार के दिन से गोधन न्याय योजना का शुभारंभ किया जा रहा है।इस योजना के अंतर्गत गोबर खरीदी कार्यक्रम जिले के प्रथम चरण में बने 89 गौठानो में प्रारंभ किया जा रहा है। द्वितीय चरण के गौठानो में कार्यक्रम तय कर 21 जुलाई से प्रारंभ किया जाएगा। इस तरह जिले के समस्त 211 गौठानो में गोधन न्याय योजना अंतर्गत गोबर खरीदी का कार्यक्रम दो चरणों में प्रारंभ किया जाएगा।इसके अतिरिक्त प्रथम व द्वितीय चरण के कुल 211 गौठानो में पौधरोपण भी हरेली पर्व के उपलक्ष्य में किया जाएगा।

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ गौरव कुमार सिंह ने बताया कि स्थानीय स्तर पर गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन के लिए 19 जुलाई को ग्राम स्तर पर बैठक आयोजित कर मुनादी करके किया जाएगा। गौठान समिति द्वारा उसी पंचायत का गोबर खरीदा  जाएगा।इस बैठक में गोधन न्याय योजना की विस्तृत जानकारी देने के साथ-साथ  क्रय किए जाने वाले गोबर की गुणवत्ता पर भी जानकारी दिया जाएगा।गोबर की खरीदी प्रतिदिन सुबह 9:00 से दोपहर 12:00 तक की जाएगी।क्रय किए जा रहे गोबर का लेखा विवरण दो प्रतियों में गौठान समिति को रखना होगा तथा पशु पालक का हस्ताक्षर लेना आवश्यक होगा। खरीदे गए गोबर का भुगतान गौठान समिति द्वारा 15 दिनों के भीतर हितग्रहियों को किया जाएगा।गोबर के भार मापन हेतु इलेक्ट्रॉनिक कांटे का उपयोग किया जाएगा। गोबर के संग्रहण हेतु स्थान एवं सेट की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाएगी। गौठान में स्वीकृत वर्मी टांका का निर्माण गोबर खरीदी के पहले किया जाना है।क्रय किए गए गोबर को एकत्र कर सी पी टी में रखा जाएगा।इस गोबर से  15 से 30 दिन के उपरांत वर्मी कंपोस्ट तैयार किया जाएगा।वर्मी कंपोस्ट तैयार होने,गुणवत्ता परीक्षण और पैकेजिंग हेतु कृषि विभाग से समन्वय करना आवश्यक होगा।इस वर्मी कम्पोस्ट का विक्रय शासन द्वारा निर्धारित दर पर किया जाएगा।गौठान में वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन हेतु स्व-सहायता समूह का चयन कर प्रशिक्षित किया जाएगा। गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन की प्रक्रिया में 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति को शामिल नहीं किया जाना है।चरवाहा को स्व-सहायता समूह के अभिन्न अंग के रूप में शामिल किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *