Friday, September 25

जगदलपुर किसानों से उर्वरकों का भुगतान कैशलेस-डिजिटल माध्यम से करने की अपील 

जगदलपुर, 13 जुलाई 2020/  कार्यालय उप संचालक कृषि से प्राप्त जानकारी अनुसार किसान द्वारा क्रय किए जाने वाले उर्वरकों का भुगतान जीपे, पेटीएम, फोनपे, ऐमाजाॅन पे इत्यादि का उपयोग करते हुए कैशलेस-डिजिटल भुगतान करने पर जोर दिया जा रहा है। जिससे वर्तमान में वैश्विक महामारी कोविड-19 से भी अपनी सुरक्षा कर सकेंगे एवं डिजिटल भारत के निर्माण में अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर सकेंगे।
कृषि के क्षेत्र में उर्वरको की खपत के अनुसार ही कृषकों द्वारा उर्वरक का उपयोग किए जाने वाले उर्वरक पर ही भारत शासन द्वारा अनुदान दिए जाने के उद्देश्य से प्रदेश में 1 नवम्बर 2017 से रासायनिक उर्वरकों पद प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण डी.बीट.टी योजना लागू की गई है। जिसके अन्तर्गत खुदरा उर्वरक विक्रेता द्वारा पीएसओ पाॅइंट आॅफ सेल मशीन के द्वारा ही कृषकों को उर्वरक विक्रय किया जा रही इस तारतम्य में डिजिटल, कैशलेस भूगतान को बढ़ावा दने के लिए भारत सरकार रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय द्वारा निर्णय लिया गया है कि उर्वरक के खुदरा विक्रेताओं द्वारा अपनी संस्था का यूपीआई क्यूआर कोड प्राप्त कर अपने प्रतिष्ठानों पर क्यूआर कोड प्रदर्शित करेंगे। जिसमें उर्वरक क्रय किए जाने वाले कृषकों द्वारा राशि का डिजिटल, कैशलेस भूगतान कर सकें एवं कैशलेस भुगतान को बढ़ावा मिल सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *