Saturday, September 26

तिरूपति में फंसे नांदगांव के 18 तीर्थयात्री छग सीमा में पहुंचे, जांच के बाद घर वा

 

 

  किशोर कर महासमुंद ब्यूरो चीफ

महासमुंद। कोरोना वायरस के कारण ट्रेन, बस सेवाएं रद्द होने के कारण महासमुंद जिले के नांदगांव पंचायत के 18 लोग तिरुपति में फंस गए थे। उनकी घर वापसी के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए ग्राम पंचायत ने कलेक्टर और जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई थी। गुहार लगाते हुए ग्रामीणों ने कहा था कि 12 मार्च को ग्राम नांदगांव से तिरुपति बालाजी मंदिर दर्शन करने गए कुल 18 श्रद्धालु तिरुपति में रुके हैं, जिनका ट्रेन रिजर्वेशन घर वापसी के लिए 22 मार्च को निर्धारित था। लेकिन, ट्रेन एवं बस रद होने के कारण वे वहां फंस गए।जानकारी के अनुसार इन श्रद्धालुओं को घर वापसी को लेकर महासमुंद सांसद चुन्नीलाल लगातार प्रयास कर रहे थे। शुक्रवार सुबह सभी 18 तीर्थयात्री आंध्रप्रदेश ओडिशा होते हुए छत्तीसगढ़ सीमा खरियाररोड पहुंच गए हैं। हालांकि, अभी तक इनका घर वापसी नहीं हो पाया है। यहां आसपास स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा इन श्रद्धालुओं का भोजन व्यवस्था किए हैं।
बताया जा रहा है कि सभी श्रद्धालुओं को जोंक नदी के पुल के नीचे बिठाया गया है। जहां पर सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए सभी को बिठाया गया है। इन श्र्दधालुओ के देखरेख में खरियाररोङ नगर के सेवाभावी, पटपरपाली सरपंच, कोमाखान सरपंच, एवं उङीसा स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग द्वारा खाने पीने की सामग्री उपलब्ध कराया गया है। स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने छग सरकार से निवेदन किया है कि इन श्रद्धालुओं की तत्काल सहयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *