महासमुंद ,उफनती नदी, नक्सली इलाका, दुर्गम रास्ता कोरोना वारियर्स के लिए नहीं बन पाऐ बाधक

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमुंद

5 किलोमीटर पैदल सफर कर कोरोना ट्रेसिंग

महासमुंद- महासमुन्द जिले में सरायपाली स्वास्थ विभाग के आरएचओ और चिरायु टीम के कार्यों की इन दिनों काफी सराहना की जा रही है। दरअसल चिरायु टीम के डॉक्टरों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने नक्सल प्रभावित ग्राम पलसापाली और अर्तुंडा मैं अपनी जान की परवाह किए बगैर नाला पार कर 5 किलोमीटर का पैदल सफर तय कर गांव पहुंचकर कोरोना से जंग जीतने के लिए सैंपल लेने का कार्य कर रहे हैं।Ó
आपको बता दें कि टीम ने कटंगीनाला नाम के नदी को पार करके 5 किलो मीटर दूर ग्रामीण क्षेत्रो में स्वास्थ विभाग के टीम द्वारा ट्रेसिंग का कार्य किया गया है. बता दे कि जिस जगह ट्रेसिंग कार्य के लिए स्वास्थ्य विभाग के RHO और चिरायु टीम पहुँची थी वह ग्रामीण इलाके नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में आता है. जहाँ देर रात उन ग्रामीण क्षेत्रों में कार्य किया गया.
स्वास्थ टीम द्वारा कंधे से ऊपर बहती कटँगी नदी को पार करके पलसापली क्षेत्रो में कार्य किया. जिसकी सभी ओर सराहना की जा रही है.
टीम में डॉक्टर जनक कुमार जेरी, राम प्रकाश चौधरी, राजकुमार पटेल ,विनय बारिक, डा. डोलामणी भोई, भीष्मा राणा, चिंताराम सिदार द्वारा  कोरोना सैंपलिंग का कार्य किया गया.  सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरायपाली के चिरायु टीम का नेतृत्व डॉक्टर अनुपा दास, डॉक्टर राजेश सिंह एवं डॉ. जनक कुमार जेरी के हाथ में है. टीम द्वारा किए जा रहे अभूतपूर्व कार्यों की जिला सहित छत्तीसगढ़ में चर्चा का विषय बना हुआ है अदम्य साहस और कोरोना से लोगों को बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा किए जा रहे इस कार्य की सर्वत्र सराहना भी की जा रही है। कोरोना के खिलाफ जंग में चौबीसों घंटे सेवा के लिए तत्पर इस टीम को शासन प्रशासन की ओर से उत्साहवर्धन किए जाने की आवश्यकता देखी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *