Sunday, September 20

महासमुंद एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने की कड़ी कार्यवाही,   एक आरक्षक को किया बर्खास्त एवं  तीन आरक्षक को निलंबित

महासमुंद – पुलिस अधीक्षक महासमुंद प्रफुल्ल  कुमार  ठाकुर ने  विभागीय  सख्त कार्यवाही करते हुए कर्तव्य के प्रति लापरवाही बरतने वाले तीन आरक्षकों को निलंबित कर लाईन अटैच कर दिया है , वहीं एक आरक्षक निर्मल दीवान को उसके लगातार अनुशासनहीन आचरण के कारण सेवा से बर्खास्तगी का आदेश पारित किया है ।
आरक्षक निर्मल दीवान द्वारा एक से अधिक बार लंबे समय से ड्यूटी से अकारण गैर हाजिर रहने एवं बार-बार उपस्थिति हेतु नोटिस  देने  पर भी गैर हाजिरी के संबंध में विभागीय जाॅच की कार्यवाही की गई। आरक्षक द्वारा बार-बार सेवा के प्रति उदासीनता प्रदर्शित करते रहने के कारण पुलिस अधीक्षक के द्वारा विभागीय कड़ी कार्यवाही करते हुए दिनांक 24.07.2020 को सेवा से पृथक कर दिया गया।

इसी प्रकार से तीन आरक्षकों को निलंबित करते हुए लाईन अटैच किया गया ।
थाना खल्लारी अंतर्गत डाॅयल-112 पाॅंईट पर थाना प्रभारी द्वारा चेंकिग के दौरान ड्यूटी में उपस्थित आरक्षक संजय ध्रुव नशे में पाया गया। आरक्षक को ड्यूटी के दौरान मद्यपान का सेवनरत् जैसे गैर जिम्मेदार एवं लापरवाही बरतने के कारण दिनांक 29.07.2020 को निलंबन की कार्यवाही किया गया।
निलंबन की दुसरी कार्यवाही में थाना खल्लारी में पदस्थ आरक्षक कांता प्रसाद साय के द्वारा नशे के हालत में स्टाॅफ के साथ गाली-गलौज, मारपीट करना व झुठा दोषारोपण के अलावा शासकीय संपत्ति को क्षति पहुंचाने जैसे गैर जिम्मेदार एवं लापरवाही पूर्ण कृत्य के कारण दिनांक 30.07.2020 को निलंबित किया।
इसी प्रकार से थाना बसना हाईवे पेट्रोलिंग में तैनात आरक्षक ललित पनागर द्वारा अपनी वाहन को नशे के हालात में तेज रफ्तार से चलाने एवं वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा मना करने पर उनसे अभद्रता पूर्वक पेश आने के कारण आज दिनांक 30.07.2020 को निलंबन की कार्यवाही की गई।

पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने आज लापरवाह एवं गैर जिम्मेदार पुलिस कर्मचारियों को सक्त संदेश दिया है कि पुलिस विभाग एक अनुशासित विभाग होेने के साथ-साथ पुलिस का आचरण जनता में रोल माॅडल के रूप में देखा जाता है, ऐसे में कर्मचारियों को सदैव उत्तम आचरण एवं कर्तव्य के प्रति सदैव जवाबदार होना जरूरी है।    अनुशासनहीन एवं कर्तव्य के प्रति लापरवाह विभागीय अधिकारी – कर्मचारियों के प्रति सख्त  दण्डात्मक कार्यवाही लगातार की  जाती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *