महासमुंद ,संगठन से हटकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की बैठक के क्या है मायने …? बडा सवाल

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमुंद

मामा भांचा में हुई कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक

कार्यकर्ताओं ने लगाया व्यक्ति विशेष को महत्व देने और उपेक्षा का आरोप

बैठक के बाद सरायपाली कांग्रेस मे भूचाल की संभावना

महासमुंद – महासमुंद जिले के सरायपाली विधानसभा क्षेत्र में सत्ता और संगठन के बीच कांग्रेस में सब कुछ ठीक-ठाक चलता नजर नहीं आ रहा है । दरअसल इन दिनों पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं के रूठे तेवर चर्चा का विषय बना हुआ है। इसी क्रम में रविवार को सरायपाली विधायक किस्मत लाल नंद के निवास ग्राम संतपाली के निकट स्थित मामा भाचा की पहाड़ी पर लगभग 2 सौ कार्यकर्ताओं ने एक बैठक रखकर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की है। बैठक को लेकर बताया गया है कि यह बैठक विधायक के साथ रहने वाले दो व्यक्तियों के विरोध में कार्यकर्ताओं द्वारा रखी गयी थी जिसमें सरायपाली क्षेत्र के कई वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ता कार्यकर्ताओं के साथ-साथ पार्टी संगठन से जुड़े कई पदाधिकारी भी मौजूद रहे।
हम आपको बताते चलें कि सरायपाली विधायक किस्मत लाल नंद के निवास ग्राम संतपाली से लगे हुए मामा भाचा पहाड़ी पर अनेक कांग्रेसियों के जुटने की खबर मिलने के बाद मौके पर पहुंचकर मामले की जब रिपोर्टिंग की गई तब कई चौंकाने वाली बातें सामने आई है । दरअसल बैठक में कांग्रेसी विधायक किस्मत लाल नंद के साथ अक्सर रहने वाले दो व्यक्तियों का खुलकर विरोध किया जा रहा था और पार्टी कार्यकर्ताओं की उपेक्षा की जोरदार तरीके से आवाज बुलंद की जा रही थी। लिहाजा कांग्रेस कार्यकर्ताओं में नाराजगी भी देखी जा रही थी । मामा भाचा की पहाड़ी पर कार और मोटरसाइकिल से पहुंचे लगभग 2 सौ कार्यकर्ताओं के बीच जमकर भाषण बाजी भी हुई। मीडिया रिपोर्टिग के दौरान कुछ कार्यकर्ताओं को बैठक से किनारे होते भी देखा गया जो कई सवाल भी खडा करता है । हालांकि इस दौरान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने सरायपाली विधायक किस्मत लाल नंद के साथ रहने वाले दो सख्श की वजह से पार्टी कार्यकर्ताओं को महत्व नहीं मिलने की बात कही। कार्यकर्ताओं ने बताया कि पार्टी कार्यकर्ता लगातार कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने के लिए कार्य कर रहे हैं लेकिन इस तरह से उपेक्षा होने से पार्टी कैसे मजबूत होगी इसे लेकर वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने सवाल भी खड़े किए । वरिष्ठ कार्यकर्ताओं का कहना था कि सारी बातों की जानकारी पार्टी संगठन के उच्च पदाधिकारियों को भी दी जाएगी । बैठक में उपस्थित सरायपाली क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ता विश्वनाथ नायक ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस पार्टी की मजबूती के लिए सभी कार्यकर्ता एकजुट होकर कार्य कर रहे हैं लेकिन कुछ लोगों की वजह से पार्टी कार्यकर्ताओं को महत्व नहीं मिल पा रहा है और वे उपेक्षित महसूस कर रहे हैं । इसी बात को लेकर बैठक का आयोजन किया गया है और बैठक की जानकारी संगठन के उच्च पदाधिकारियों तक पहुंचाई जा रही है । इस दौरान कांग्रेसी कार्यकर्ता प्रफुल्ल भाई ने भी मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि दो व्यक्ति विशेष को ही विधानसभा क्षेत्र में महत्व दिया जा रहा है जिससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं मे नाराजगी हैं और इसी बात की चर्चा करने के लिए यहां एकत्रित हुए हैं वहीं पूर्व जिला पंचायत सदस्य डोल चंद पटेल ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र के अंदर दो व्यक्तियों की ही चल रही है जिससे संगठन के कार्यकर्ता काफी नाराज हैं और ऐसे लोगों को महत्व मिल रहा है जिनका पार्टी मैं पूर्व में कभी कोई महत्वपूर्ण भूमिका नहीं रही है ।
कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा आहूत की गई इस बैठक के कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं और इसे राजनीति के जानकार विधायक के खिलाफ कार्यकर्ताओं के बगावती तेवर के रूप में देख रहे हैं। सरायपाली विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के इस तरह से बैठक किए जाने के बाद निकट भविष्य में कांग्रेस पार्टी के अंदर भूचाल आने की संभावना भी देखी जा रही है। मामा भाचा की पहाड़ी पर आयोजित इस बैठक में सरायपाली क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेसी विश्वनाथ नायक, रामदयाल पटेल, प्रवीण भोई, नूतन अग्रवाल, जफरउल्ला खान, तन्मय पंडा, पुरुषोत्तम पटेल , फकीर बढ़ाई , सतीश साहू, महेश चौधरी, प्रफुल्ल भोई, युवा कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष संजय चौधरी, आरीफ अली पिंकी, सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस जन थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *