महासमुंद स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवार की उपेक्षा से आक्रोशित संगठन के पदाधिकारियों ने संसदीय सचिव से मुलाकात कर जताया विरोध

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमुंद

महासमुन्द। अखिल भारतीय स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी संगठन के पदाधिकारियों ने जिला प्रशासन पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिजनों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। इसकी शिकायत पदाधिकारियों ने संसदीय सचिव विनोद सेवनलाल चन्द्राकर से करते हुए उचित कार्यवाही की मांग की है।
आज संसदीय सचिव निवास पहुंचकर संगठन के पदाधिकारियों नारायण नामदेव, चित्रसेन गिरी, कुबेर प्रकाश गिरी, श्रीधर चन्द्राकर, मनोज गिरी, संजय गिरी, नील रत्न पाटिल, बसंत चन्द्राकर, योगेश जैन, मनीष सरवैया, संतोष चन्द्राकर, शेषनारायण नामदेव आदि ने संसदीय सचिव श्री चन्द्राकर को जानकारी देते हुए बताया कि जिला मुख्यालय में आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिवार वालों के साथ उपेक्षा की गई है। कार्यक्रम की कोई जानकारी देना मुनासिब नहीं समझा गया। जबकि हर साल स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिजनों को आमंत्रित किया जाता रहा है। उन्होंने बताया कि इस साल भी प्रदेश सरकार ने स्वतंत्रता दिवस पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिजनों को आमंत्रित करने का निर्देश दिया था। जिस पर जिला प्रशासन के मुखिया ने बैठक में संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए थे। लेकिन मातहत अधिकारियों ने कोई सूचना नही दी। जिससे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिजन खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं और आक्रोश भी व्याप्त है। जिस पर संसदीय सचिव श्री चन्द्राकर ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *