Friday, September 18

मुस्कुराना जिंन्दगी है, मुस्कुराना सीखिए निशुल्क पेय औषधि है

सुगम शिक्षण समिति , ओसीएम, नलघर चौक रायपुर द्वारा काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। समिति ने अपनीइस अवसर पर कवि तेजपाल सोनी ने ” मुस्कुराना जिंदगी है, मुस्कुराना सीखिए, निशुल्क औषधि पेय है मुस्कुरा कर पीजिए” कविता पाठकर श्रोताओं को जीवन का श्रेष्ठ संदेश दिया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि नरेंद्र पांडे, पूर्व मुख्य वन संरक्षक, विशिष्ट अतिथि शायर अनुराग सिंह भदोरिया भिलाई दुर्ग,कवि दिलीप वर्मा तस्व्वुर सहित वरिष्ठ कवि आचार्य अमरनाथ त्यागी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। गोष्ठी का संचालन कुमार जगदलवी ने किया।
काव्य पाठ के दौरान के अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुके कवि संजीव ठाकुर,मुख्य अतिथि नरेंद्र पांडे ने स्वरचित गजल तरन्नुम में ” ऐसे ही शर्मा कर मेरी बाहों में आ जाओ” पाठ किया। शायर अनुराग सिंह भदोरिया ने अपनी रचना तहत में ‘आहिस्ता कारों बातें राज की,
दीवारों के भी अब कान भी होते है।
बेईमानी ईमान है उनका अब,
बेईमानो के अलग ईमान भी होते है ‘ सस्वर पाठ कर श्रोताओं की तालियों से सम्मान पाया। साथ ही गोष्ठी में व्यंग्यकार सुनील पांडे ने अपनी रचना पढ़ी ‘जो जनता को औजार समझते हैं, ऐसे लोगों की घंटी बजाना,हम अपना कर्तव्य और अधिकार समझते हैं, कवि संजीव ठाकुर ने कहा –
“जिंन्दगी इतनी खुशगवार हो जाए,
मौत भी आए तो कसूरवार हो जाये”
काव्य पाठ के दौरान विशेषकर कवियत्री, शोभा मोहन श्रीवास्तव, कवियत्री लतिका भावे, शास्त्रीय संगीत गायिका राधा ढगे ने अपनी गायकी से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।
गीतकार मोहन श्रीवास्तव , “एक हाथ में शस्त्र दूजे में हो शस्त्र युद्ध जीतने के लिए होय आधुनिक अस्त्र “, शायर मोहम्मद हुसैन ने ‘ मां भारती पर जो हंसकर कुर्बान हो गया” , कवि राजेश जैन राही ने अपनी बात युग रखी वही नागरिक घोषराजेश जैन अपनी कृति राही की मधुशाला से ” वही नागरिक घोषित होगा जिसके हाथों में प्याला ,देश प्रेम की जिसके भीतर भरी रहे सुरभित हाला “, शायर राकेश अग्रवाल ने “हंगामा करके मुझे डरा दोगे क्या अभी जिंदा हूं दफना दोगे क्या”, गीतकार अनमोल मणि, श्रीमती सुनील जायसवाल धन्यवाद ज्ञापन समिति के अध्यक्ष सुनील जायसवाल दिया। कार्यक्रम में समिति की ओर से अतिथि वरिष्ठ पत्रकार शशांक खरे, वरिष्ठ छाया पत्रकार प्रदीप साहू, का भी सम्मान किया गया। यह जानकारी समिति के अध्यक्ष सुनील जायसवाल ने दी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *