Wednesday, September 23

राशन दुकानों में खाद्य माफिया के माध्यम से गड़बड़ी का मामला उठा

0-कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय ने प्रश्रकाल में उठाया मुद्दा
रायपुर। विधानसभा में आज सत्ता पक्ष के कांग्रेस सदस्य विकास उपाध्याय ने राजधानी रायपुर सहित पूरे प्रदेश में राशन दुकानों में खाद्य माफिया के माध्यम से गड़बड़ी करने का मामला उठाया।
प्रश्रकाल में श्री उपाध्याय ने यह मामला उठाया। उन्होंने अपने मूल प्रश्र में खाद्य मंत्री अमरजीत भगत से जानना चाहा कि राशन दुकान के आबंटन की प्रक्रिया क्या है और रायपुर शहर की कितनी समितियों को राशन दुकान आबंटित है। उन्होंने यह भी जानना चाहा कि एक समिति को कितनी दुकान संचालन का अधिकार है तथा कितनी समितियों के पास एक से अधिक दुकान है।
इसके जवाब में खाद्य मंत्री श्री भगत ने बताया कि उचित मूल्य दुकानों का आबंटन छग सार्वजनिक वितरण प्रणाली (नियंत्रण) आदेश 2016 की कंडिका 9 में दिये गये प्रावधानों के अनुसार किया जाता है। उन्होंने बताया कि रायपुर शहर में 92 संस्थाओं को राशन दुकानें आबंटित है तथा सामान्यत: किसी भी अभिकरण को उसके क्षेत्र में केवल एक दुकान आबंटित की जा सकेगी, किंतु राशनकार्डधारी उपभोक्ताओं को आवश्यक वस्तुओ की नियमित वितरण सुनिश्चित करने हेतु दुकान आबंटन प्राधिकारी विधी मान्य कारण दर्शाते हुए एक से अधिक और तीन से ज्यादा नहीं दुकान आबंटित कर सकेगा। खाद्य मंत्री ने यह भी बताया राजधानी में 29 संस्थाओं को एक से अधिक राशन दुकानें आबंटित है।
कांग्रेस सदस्य श्री उपाध्याय ने इस पर पूरक प्रश्र करते हुए कहा कि यह बहुत गंभीर मामला है। उन्होंने आरोप लगाया कि खाद्य माफिया पूरे प्रदेश के राशन दुकानों पर हावी है। खाद्य माफिया के माध्यम से राशन दुकानों का बंदरबांट और उसकी मिलीभगत की जा रही है। कांग्रेस सदस्य बृहस्पत सिंह ने भी इस मामले में कहा कि राशन दुकानों में पूरे दलाल सक्रिय है। इस मामले में खाद्य मंत्री का जवाब आता उससे पहले विधानसभा अध्यक्ष डा. चरणदास महंत ने यह कहते हुए प्रश्र को आगे बढ़ा दिया कि कांग्रेस सदस्य आप मंत्री से अलग से पूछ लिजिएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *