रिजवी ने लिखा सीएम बघेल को पत्र मदरसा बोर्ड एवं उर्दू अकादमी में उर्दू भाषा के जानकार को ही नियुक्त करें

 

रायपुर।28/07/2020। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख एवं मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल को चिट्ठी भेजकर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि निगममंडलआयोगअकादमी आदि में नियुक्ति आपके एवं कांग्रेस संगठन के विवेकाधिकार में है व जिसको चाहे नियुक्त कर सकते हैं। किसी अन्य को आपत्ति करने का कोई अधिकार नहीं है।

          रिजवी ने मुख्यमंत्री से निवेदन किया है कि मदरसा बोर्ड एवं उर्दू अकादमी में उर्दू भाषा के जानकार को ही नियुक्त करें वरना इन दोनों संस्थानों का सही प्रतिनिधित्व नहीं हो पाऐगा। नियुक्त होने वाले व्यक्ति को उर्दू भाषा पढ़ना-लिखना आना चाहिए तब जाकर दोनों संस्थानों का उद्देश्य सार्थक हो सकेगा। प्रथम मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी ने मुस्लिम संस्थानों में उर्दूदाँ को ही नियुक्ति प्रदान की थीपरन्तु खेद का विषय है कि भाजपा के 15 साल के कार्यकाल में इन संस्थानों में ऐसे लोगों की नियुक्ति हुई थी जिन्हें उर्दू वर्णमाला का अलिफ बे तक का ज्ञान नहीं था। यह सब कुछ भाजपा की सुनियोजित साजिश का हिस्सा था तथा सभी मुस्लिम संस्थान सफेद हाथी सिद्ध हुए। मुस्लिमों का विकास तो दूर उर्दू शिक्षकों की नियुक्ति पर 15 वर्षों तक रोक लगी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *