Sunday, September 27

रोका छेका का असर:- तखतपुर के ग्राम मेड़पार में 50 गायों की दम घुटने से हुई मौत, जिम्मेदार कौन गौ हत्या का पाप कौन लेगा अपने सर

बिलासपुर जिले के तखतपुर विकासखंड अंतर्गत ग्राम मेड़पार रोका छेका अभियान के तहत एक छोटे से कमरें लगभग 70 गायों को बंद कर दिया था जिससे दमघुटने से 50 गायों की मौत हो गई है जिससे बिलासपुर से रायपुर तक राजनैतिक गलियारों तक हड़कंप मच गया है ।तखतपुर विकास अंतर्गत ग्राम पंचायत मेड़पार में 50 गायों की मौत दम घुटने से होना बताया जा रहा है यहां पुराने पंचायत भवन में करीब 70-80 गायों को एक साथ रखा गया था। भवन में एक साथ इतने सारे गायों को रखने के कारण दम घुटने से 50 गायों की मौत हो गई है।मौत के पीछे सरपंच ,जनपद सदस्य अदूरदर्शिता बताई जा रही है। गांव के ही विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार घटना के पहले स्थानीय पंचायत ने रोका छेका अभियान ग्राम में चलाया था और सभी जानवरों को छोटे से कमरे में भरते चले गए और स्थान की कमी के चलते जानवरों का दम घुट गया क्या जिला प्रशासन इन पर कार्यवाही करेगी ? पंचायत की ओर से घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है |

जानकारी के अनुसार, तखतपुर विकास अंतर्गत ग्राम पंचायत मेड़पार बाजार मैं गौठान नहीं होने के कारण वर्तमान में कोरोना वायरस के चलते ग्राम पंचायत के पुराने जर्जर भवन के ग्राउंड को गौठान बनाया गया था, जिसमें लगभग 70-80 गाय रखी हुई थी जिसमें 50 गए अचानक मृत्यु हो गई है | मृत पाय गए मवेशियों में अधितकर गाय हैं |

फिलहाल मौत की वजह साफ नहीं हो पाई है, पशुपालन विभाग की टीम आज मौके पर पहुँच गई है, वहीं स्थानीय प्रशासन के अधिकारी भी पहुँचे हैं |

ग्राम पंचायत के ग्रामीण विनोद धृतलहरे ने बताया कि उसके तीन मवेशियों को कल यहीं पर रखा गया था उनकी भी मृत्यु हो गई है सरपंच ने उच्च अधिकारियों को इसकी जानकारी दी है सुबह-सुबह यह जानकारी आने से सभी अधिकारी मौके के लिए रवाना हो रहे हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *