Sunday, September 27

लता मंगेशकर के जीवनी की हिंदी में पहलीं आधिकारिक किताब -छःत्तीसगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार ड़ी.श्याम कुमार के द्वारा

रायपुर आप को बता दे कि

स्वरकोकिला,भारतरत्न, प्रसिद्ध पाश्र्व गायिका लता मंगेशकर के जीवनी पर किताब के लेखन का सौभाग्य प्राप्त हुआ ।यह किताब श्रधेय लता जी के जीवन पर आधारित पहलीं आधिकारिक अंग्रेज़ी किताब का हिंदी रूपांतरण ‘ लता मंगेशकर- अपने खुद के शब्दों में ‘ लिखने का अवसर, राज्य के लेखक वरिष्ठ पत्रकार .ड़ी. श्याम कुमार को प्राप्त हुआ।

उपरोक्त किताब, एक वृहद साक्षातकार की श्रृंखला है, जिसमे लता जी ने, अपने जीवन, परिवार,पाश्र्वगायन में उनका सफर और उन तमाम पहलुओं पर बेबाकी से अपनी बात रखी है, जिसके बारे में आमजन को, बहुत कम या कोई जानकारी उपलब्ध नही है।

लता के जीवन के विभिन्न पहलुओं पर आधारित ये पहलीं आधिकारिक किताब का हिंदी अनुवाद है, जिसे लता दीदी की स्वीकृति प्राप्त है ।

लता मंगेशकर द्वारा अपने लंबे पाश्र्वगायन की यात्रा का अपने शब्दों में स्मरण करती ये एक स्मरणीय और संग्रहणीय किताब है।

‘लता इन हर ओन वॉइस ‘ जो कि सन 2008 में,लंदन निवासी, प्रसिद्ध पत्रकार और लेखिका नसरीन मुन्नी कबीर के द्वारा 2 वर्ष के लंबे समय मे, विभिन्न मौकों पर लता मंगेशकर से सीधी बातचीत पर आधारित है।

वंही ‘ लता मंगेशकर,अपने खुद के शब्दों में ‘। हिंदी में आधारित है, । मुझ पर ये महती जिम्मेदारी आयद थी कि, न केवल इसका हिंदी में पुनर्लेखन करूँ अपितु, इस किताब के विषयवस्तु का अनुवाद भी पूर्णतः समांतर बनी रहे।

लता के साक्षात्कार और उनके अतिव्यस्त समय के बीच, विभिन्न मौकों पर उनसे बातचीत का सिलसिला, कई ऐसी भ्रांतियों को दूर करता है, जो सोशल मीडिया और इंटरनेट पर पाई जाती हैं।

जब मुझे जानकारी मिली कि इस, अतिमहत्वपूर्ण कार्य के लिए मेरा चयन हुआ है तो,एकबारगी विश्वास नही हुआ, दिल के किसी कोने में ये एहसास भी था कि, क्या मैं पुनर्लेखन और
अनुवाद के इतने महत्वपूर्ण कार्य को अपेक्षानुपूर्ण पूरा कर पाऊंगा, क्योंकि किताब उनके बारे में हैं, जो संगीत के क्षेत्र में देश मे ही नही बल्कि सम्पूर्ण विश्व मे स्वयं एक अवतार मानी जाती हैं। किताब में मेहनत से ज़्यादा रोमांच का अनुभव हुआ, क्योंकि इस दशक के सबसे महानतम गायिका के जीवन के संघर्ष और सफलता को इतने करीब से अनुभव करना, एक रोमांचकारी अनुभव था।

इस किताब में , लता मंगेशकर जी के परिवार के सदस्यों और प्रसिद्ध फिल्मी कलाकारों के साथ लता के बारे में विभिन्न संस्मरण और उनके विचार भी, संकलित हैं।

साथ ही, किताब में लता मंगेशकर के विभिन्न यादगार और ऐतिहासिक चित्रों का बेहतरीन संग्रह भी पाठकों के लिये प्रस्तुत किया गया है।

किताब नियोगी बुक्स, नईदिल्ली द्वारा प्रकाशित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *