लोन वर्राटू (घर वापस आइए) अभियान से प्रभावित होकर 11 माओवादियों ने थाना किरंदुल में पुलिस अधीक्षक के समक्ष किया आत्मसमर्पण

  1. किरंदुल-जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत दिनांक 22 जुलाई 2020 को माओवादियों के दरभा डिवीजन के मलांगिर एरिया कमेटी अंतर्गत नक्सली अग्र संगठन में कार्यरत सक्रिय 11 माओवादियों ने माओवादी संगठन के खोखली विचारधारा से तंग आकर लोन वर्राटू (घर वापस आइए) अभियान तथा छत्तीसगढ़ शासन के पुनर्वास योजना से प्रभावित होकर समाज के मुख्य धारा से जुड़कर विकास में सहयोग करने की इच्छा व्यक्त कर डॉ. अभिषेक पल्लव पुलिस अधीक्षक दन्तेवाड़ा के समक्ष थाना किरंदुल में आत्मसमर्पण किया।ज्ञात हो कि विगत 01 महीने से जिला दंतेवाड़ा के विभिन्न ग्रामों के नक्सली संगठन में सक्रिय सदस्य की घर वापसी हेतु थाना एवं कैम्पों में ग्राम पंचायतों में संबंधित क्षेत्र के सक्रीय माओवादी के नाम चस्पा कर माओवादी संगठन के खोखली विचारधारा को छोड़कर समाज की मुख्यधारा में शामिल होने हेतु लोन वराटू घर वापस आइए अभियान चलाया जा रहा है एवं एसपी डॉ अभिषेक पल्लव द्वारा नक्सली संगठन में सक्रिय माओवादियों से आत्मसमर्पण कर सम्मानपूर्वक जीवनयापन करने के लिए लगातार आव्हान कर अपील किया जा रहा है।इस दौरान राजेन्द्र जायसवाल अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक,देवांश राठौर पुलिस अनुविभागीय अधिकारी,किरंदुल थाना प्रभारी डी के बरवा उपस्थित रहे।
    छत्तीसगढ़ शासन के पुर्नवास नीति के तहत् आत्मसर्पण पश्चात समाज के मुख्य धारा में शामिल होने पर स्वागत करते हुए सभी आत्मसमर्पित माओवादियों को डॉ. अभिषेक पल्लव पुलिस अधीक्षक दन्तेवाड़ा के द्वारा प्रोत्साहन राशि दस -दस हजार रूपये प्रदान किया गया। आत्मसमर्पण माओवादियों में जोगा कुंजाम,कोसा मड़काम,सोमारू माड़वी,कोसा माड़वी,कमलू माड़वी,बीड़ू तामो, हूँगा कुंजाम,सुरेश कुंजाम,पडरु,कड़ती दुग्गे,बोडडा बोसे शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *