Sunday, September 27

विष्णु देव साय 15 साल तक रमन सिंह सरकार के आदिवासी विरोधी कृत्यों, अत्याचार का मौन रहकर समर्थन करते रहे विष्णु देव साय दलीय मजबूरी और चाटूकारिता करने रमन सिंह को क्लीनचीट दे रहे है मोहन मरकाम

रायपुर/17 अगस्त 2020। विष्णु देव साय की क्लीनचीट को जनभावनाओं और 2018 के विधानसभा चुनावों के जनादेश का अपमान निरूपित करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि 15 साल रमन सिंह सरकार को उसके दुर्गुणों के कारण ही तो छत्तीसगढ़ के मतदाताओं ने खारिज किया। छत्तीसगढ़ के मतदाताओं ने तीन चौथाई बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनाई। रमन सिंह सरकार में तो 15 साल में कमीशनखोरी, भ्रष्टाचार, झीरम कांड, झलियमारी, सारकेगुड़ा, नसबंदी कांड, अंखफोड़वा कांड, गर्भाशय कांड, अंतागढ़ कांड, नकली दवाई, दवा खरीदी में घोटाला, मेडिकल उपकरण खरीदी घोटाला, इंदिरा प्रियदर्शनी बैंक घोटाला, रतनजोत घोटाला, करोड़ों का नान घोटाला हुआ। आदिवासियों के नाम से योजना बनाकर भारी भ्रष्टाचार कमीशनखोरी किया गया सरकारी खजाने को लूटा गया। ऐसी स्थिति में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय द्वारा रमन सिंह को क्लीनचिट देना 2018 के विधानसभा चुनावों के जनादेश का अपमान है। छत्तीसगढ़ के मतदाताओं ने रमन सिंह सरकार के कुशासन से त्रस्त होकर भाजपा को सत्ता से बेदखल किया है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने विष्णु देव साय से पूछा है कि जब रमन सरकार में 15 साल तक निर्दोष आदिवासियों को जेल में बन्द किया जाता रहा, रमन सिंह सरकार में पांचवी अनुसूची क्षेत्रो को मिले कानूनी अधिकारों को दरकिनार कर ग्राम सभा के अनुमोदन के बिना हजारों आदिवासी से जमीन छीनी गई, रमन सिंह सरकार में नक्सली बताकर आदिवासियों के मासूम बच्चों को मुठभेड़ में मारा गया, झलियामारी बालिका गृह में हुई बलात्कार की घटना, मीना खलखो, पेद्दागेल्लूर, सारकेगुड़ा की घटना, बस्तर क्षेत्र के युवाओं को सरकारी नोकरी से वंचित रखा गया आउटसोर्सिंग से भर्ती कर उनके हक अधिकार को बेचा गया, रमन सरकार के दौरान तेंदूपत्ता संग्राहकों की लाभांश में हेराफेरी की गई, चरणपादुका खरीदने में भ्रष्टाचार किया गया, 5 लाख वनाधिकार पट्टा निरस्त किया गया था, पूर्व की रमन सरकार के दौरान निरन्तर आदिवासी वर्ग पर अत्याचार हुआ उनके अधिकारो का हनन किया गया। आदिवासी कल्याण के नाम से सरकारी योजना बनाकर बंदरबाट किया गया। विष्णु देव साय रमन सरकार के दौरान हुये आदिवासियों पर अत्याचार, शोषण, उनके कानूनी अधिकारों की हनन की घटना को सही ठहरा रहे है, जो पूरी तरह से गलत है। आदिवासी समाज सहित छत्तीसगढ़ की जनता द्वारा रमन सिंह को नकारे जाने के बावजूद विष्णु देव साय दलीय मजबूरी और चाटूकारिता करने रमन सिंह को क्लीनचीट दे रहे है?
ग्रेेे

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *