संत जुटे ऑनलाइन, शराब पीए बिना जनता रह सकतीहै 45दिन लेकिन सरकार शराब बेचे बिना नही रह सकती है,साधु संतों ने किया जोरदार विरोध

बालयोगेश्वर संत श्री राम बालक दास जी एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश संत महासभा के प्रदेश अध्यक्ष स्वामी राजेश्वरानंद के सानिध्य में* पाटेश्वर धाम जिला बालोद छत्तीसगढ़ द्वारा लॉक डाउन के इस विपरीत परिस्थिति में भी प्रतिदिन व्हाट्सएप के माध्यम से ऑनलाइन सत्संग परिचर्चा श्री सीता रसोई संचालन ग्रुप एवं मंडलाधिकारी पाटेश्वर धाम ग्रुप के साथ अन्य कई ग्रुपों में रोज वाट्सएप के माध्यम से आयोजित किया जा रहा है आज आज सुबह 10:00 से 11:00 बजे सीता रसोई ग्रुप में परिचर्चा का आयोजन किया गया जिस ग्रुप में पाटेश्वर सेवा संस्थान के संचालक रामबालक दास जी ने छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी के काल में भी शराब की दुकानों को प्रदेश सरकार द्वारा खोले जाने का घोर विरोध करते हुए निंदा प्रस्ताव रखा

पाटेश्वर सेवा संस्थान के द्वारा रखे गए इस निंदा प्रस्ताव के ऊपर आज बहुत से लोगों ने अपने विचार रखे बाबा राम बालक दास जी ने कहा कि 45 दिन शराब पीकर जनता ने बता दिया कि वह शराब के बिना जिंदा रह सकती है लेकिन ठेके खोलकर प्रदेश सरकार ने बता दिया कि शराब के बिना सरकार नहीं रह सकती इस विषय पर सुंदर लाल कुतरिया जमुनटोलॉ मध्य प्रदेश भूषण लाल साहू जतमई संतोष साहू सिंह देई ने अपने विचार रखे मातृशक्ति की ओर से रश्मि चंद्राकर केसकाल ने कहा कि बाबा जी ऐसे समय में पाटेश्वर धाम के द्वारा यह विषय उठाना समयोचित है आवश्यकता है कि जिस तरह महामारी से लड़ रहे हैं इसी तरह शराब रूपी गंदगी से भी लडे इसी तरह पुसउराम लहरें मंडला अधिकारी सोरन सिंह शर्मा दुर्ग लेख राम गगरिया ने भी कहा कि पाटेश्वर धाम के द्वारा शराबबंदी का जो आंदोलन किया जा रहा है और प्रदेश सरकार के शराब बेचने के निर्णय का विरोध किया जा रहा है उसमें हम सभी सहमत हैं और आवश्यकता पड़ने पर पाटेश्वर धाम के आदेश पर सड़कों में भी उतरने को तैयार हैं बाबा राम बालक दास जी ने कहा कि जब शराब पीने के लिए शराब खरीदने के लिए लोग सड़कों में उतर सकते हैं तो समाज को बचाने एवं देश का भविष्य सुरक्षित रखने के लिए शराब बंदी के लिए लोग सड़क पर क्यों नहीं उतर सकते इसी बीच मातृशक्ति का प्रस्ताव के समर्थन में बोलना जारी रहा डूबोवती यादव कुनकुरी जशपुर श्रीमती ज्योति रायपुर एवं इंदिरा देवी बलोदाबाजार पदमाँ देवांगन डौण्डीलोहारा ने भी प्रदेश सरकार की शराब बेचने की नीति को गलत बताते हुए इसे घोर निंदा के काबिल कदम कहा इसी तरह गोवा महाराष्ट्र से हिंदू जनजागृति समिति के प्रवक्ता सुनील घनवट जी ने परिचर्चा में जुड़ते हुए बाबा बालक दास जी के छत्तीसगढ़ में शराबबंदी की मांग को उचित कहा एवं यह भी कहा कि पूरे देश में शराबबंदी होना चाहिए छत्तीसगढ़ धार्मिक प्रदेश है अनुशासित प्रदेश है यहां शराब बेचकर क्यों अनुशासन को प्रदेश सरकार भंग करना चाहती है आज की परिचर्चा में प्रदेश सरकार के द्वारा शराब बिक्री किए जाने के विरोध में छोटे-छोटे बच्चों ने भी अपनी भूमिका निभाई भिलाई से स्वर्गीय कामता प्रसाद साहू सचिव पाटेश्वर धाम की पुत्री ज्योति साहू ने बहुत ही सुंदर ढंग से अपनी बात रखी छोटी गुड़िया ज्योति ने कहा की आज लाक डाउन के चलते हम बच्चों के विद्यालय बंद हैं सारे मंदिर देवालय बंद हैं मस्जिद गुरुद्वारे बंद है फिर यह कैसी सरकार है जो शराब की दुकान खुलवा रही है शर्म की बात है

परिचर्चा का संचालन करते हुए बाबा बालक दास जी ने कहा की यह छत्तीसगढ़ महतारी को पूरे देश में बदनाम करने की साजिश है पूरा देश के सामने हम छत्तीसगढ़ वासियों का सिर शर्म से झुक गया है क्योंकि आज पूरा देश छत्तीसगढ़ को शराबी प्रदेश के रूप में देख रहा है क्या छत्तीसगढ़ के लोग शराब के बिना नहीं रह सकते क्या 40 दिन हम लोगों के द्वारा किया गया तपस्या बेकार गया क्या प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री आपदा कोष में हमारे द्वारा दिया गया दान व्यर्थ में जाएगा क्या दान में दिए गए पैसे और राशन को बेचकर अब छत्तीसगढ़ के लोग शराब पिएंगे 1:00 से 2:00 के बीच में मंडलाधिकारी ग्रुप में भी यही प्रस्ताव और चर्चा छाई रही मंडलाधिकारियों में डामन सिन्हा बेरला घनश्याम वर्मा तिल्दा आशु मुंग्या जी दिल्ली रघुनंदन उजाला दुर्ग रत्नाकर जी चांपा राजकुमार जी उदयपुर रविंद्र सिंह जी भिलाई सौरभ जैन दल्लीराजहरा और महेश अग्रवाल राजनांदगांव ने चर्चा में भाग लिया
*रायपुर छत्तीसगढ़ संत महासभा के प्रदेश अध्यक्ष स्वामी राजेश्वरानंद जी* ने कहा की पुरे छत्तीसगढ़ का संत समाज राम बालक दास जी के प्रस्ताव का समर्थन करते हुए प्रदेश सरकार की शराब दुकान खोलने के निति का विरोध करता है

परिचर्चा में आज मातृशक्ति का विशेष योगदान रहा डौण्डीलोहारा से श्री मति माया ठाकुर ने कहा कि यदि सरकार को पैसे चाहिए तो वे अपने निजी खर्चो को कम करे सभी मंत्री नेता आलीशान खर्चो को कम करे अपनी, महंगे शोक को सरकारी खर्चे से ना करे उतना भी पर्याप्त है क्यों जरूरत है शराब दुकान को केवल कमाई के लिए खोलने की
और सारे नियमों को ताक पर रखकर पुरे प्रदेश के जान को जोखिम मे डालने की अंत में चर्चा का समापन करते हुए बाबा बालक दास जी ने पुनः अपना संकल्प दोहराया कि छत्तीसगढ़ सरकार शराब की दुकान खोलने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करें और कल से ही पूरे छत्तीसगढ़ में शराब की दुकान बंद करें नहीं तो अराजकता फैलेगी अनुशासनहीनता फैलेगी लड़ाई झगड़े बढ़ेंगे साथ ही साथ कोरोना महामारी और तेजी से बढ़ेगी और यदि शराब पीने वाले बेचने वाले के द्वारा महामारी फैलेगी तो सहयोग करने वाले हाथ भी हाथ पीछे खिंच लेंगे
प्रदेश के सभी मिडिया जगत से जुड़े बंधुओ से बाबा बालकदास जी ने इस समाचार को पुरे प्रदेश के प्रिंट मिडिया और इलेक्ट्रानिक मिडिया में प्रसारित करने की अपील की है और इस लड़ाई में सबका साथ माँगा है
धन्यवाद
जय सियाराम जय गौमाता जय गोपाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *