40 साल पहले लिख दी गई थी वुहान में वायरस त्रासदी की दास्तां

बीजिंग। चीन में घातक कोरोना वायरस से 105 और लोगों की मौत के बाद मरने वालों की संख्या सोमवार को 1,770 के पार पहुंच गई है, जबकि 70,548 लोगों इससे संक्रमित बताए जा रहे हैं। यह जानलेवा वायरस चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान सबसे ज्यादा फैला हुआ है। इस बीच एक दावा सामने आया है कि कि 40 साल पहले एक फिक्शन बुक में वुहान वायरस की भविष्यवाणी की गई थी।
एक थ्रिलर उपन्यास, द आइज ऑफ डार्कनेस, जिसे 1981 में डीन कोन्टोज़ ने लिखा था, ने वुहान -400 नामक एक वायरस का उल्लेख किया था। उपन्यास में, वायरस को एक प्रयोगशाला में एक हथियार के रूप में बनाने की बात कही गई है। @DarrenPlymouth ट्विटर हैंडल से एक इस उपन्यास में लिखी गई वो लाइन शेयर की गई है, जिसमें वुहान-400 वायरस का उल्लेख किया गया है। सोशल मीडिया पर यह ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।
सरकारी समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ की एक खबर के अनुसार राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि 2,048 नए मामलों की पुष्टि होने के साथ ही इससे संक्रमित लोगों की कुल संख्या 70,548 हो गई है। इससे रविवार को जिन 105 लोगों की जान गई उनमें से 100 हुबेई में जबकि तीन हेनान और दो गुआंगदोंग में मारे गए। आयोग ने बताया कि अभी तक कुल 10,844 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। वहीं 7,264 लोगों के इससे संक्रमित होने का संदेह है। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने भी पुस्तक का एक अंश साझा किया है और लिखा है कि ‘क्या कोरानवायरस एक जैविक हथियार है जिसे चीन के वुहान -400 नाम से विकसित किया गया है? यह पुस्तक 1981 में प्रकाशित हुई थी। इस अंश को पढ़िए।’
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए चीन की संसद का मार्च में शुरू होने वाला सालाना सत्र टाला जा सकता है। चीन की आधिकारिक मीडिया ने सोमवार को इसकी जानकारी दी। पिछले साल दिसंबर में हुई आधिकारिक घोषणा के अनुसार देश की सर्वोच्च विधायिका, तेरहवीं नेशनल पीपल्स कांग्रेस (एनपीसी) का सालाना सत्र बीजिंग में पांच मार्च को होने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *