Wednesday, August 5

जशपुर

जशपुर शहर के अंदर चोरियों का सिलसिला जारी है ।बीती रात शहर में चोरी करते 3 चोरों की तस्वीर सीसीटीवी में कैद हो गई है
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जशपुर

जशपुर शहर के अंदर चोरियों का सिलसिला जारी है ।बीती रात शहर में चोरी करते 3 चोरों की तस्वीर सीसीटीवी में कैद हो गई है

  सीसीटीवी फुटेज के मूताबिक जशपुर में बीती रात तिवारी कॉलोनी पूर्व विधायक राजशरण भगत के घर के सामने 3 घरों की बाउंड्रीवाल को कूद कर 3 चोर 4 गाड़ी से पेट्रोल चुराकर और घर के चप्पल जुते चुराकर बड़े इतमिनान से जा रहे है।इन्हें पाठक कॉलोनी कँचन ऑटो के बगल वाले रास्ते से संविधा हॉस्टल के रास्ते से जाते हुए देखा जा सकता है । शहरवासियों ने इसकी सूचना कोतवाली पूलिस को भी दी है और पूलिस से चोरों की गतिविधियों पर लगाम लगाने का आग्रह किया है।...
जशपुर विकास कार्यो में लापरवाही बर्दाश्त नही – यू डी मिंज  संसदीय सचिव
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जशपुर

जशपुर विकास कार्यो में लापरवाही बर्दाश्त नही – यू डी मिंज संसदीय सचिव

*जशपुर :- छत्तीसगढ़ लोक निसर्माण विभाग द्वारा जिले के विकासखंड फरसाबहार के मेंडरबहार से भगोरा मुख्य मार्ग तक लंबाई 2.875 कि.मी. 2 करोड़ 48 लाख के लागत से सड़क निर्माण कार्य का भूमि पूजन शिलान्यास करने पहुंचे तो पहले निर्माण देख भड़क गए और वहीं कार्यस्थल पर ही इंजीनयर विधायक संसदीय सचिव यू डी मिंज तथा विभाग के इंजीनियर व सब इंजीनयर पर सड़क में हो रहे अर्फवर्क (मिट्टीफिलिंग) काम को लेकर जमकर फटकार लगाई और कहा कि अधिकारियों को बार बार अवगत कराने के बाद भी इनकी अफसरी ठेकेदारों के आगे नहीं चल रही है विभाग के अधिकारियों की मनमानी से हो रहे घटिया सड़क निर्माण कार्य को देखकर भड़क गए. उन्होंने तत्काल काम बंद करने के निर्देश दिए.* *विधायक श्री मिंज ने श्री भगत इंजीनियर को कहा कि आप जा के लवाकेरा से कोतबा मार्ग जो कि 44 करोड़ की लागत से बना है 4 साल ढंग से नही चला और सड़क की हालत खराब है धूल मिट्टी सड़...
दो एकड़ में अपने कुए के दम पर पूरन राम कर रहा है सब्जी की खेती कमा रहा है 15 से 20 हजार रूपए महीना
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जशपुर

दो एकड़ में अपने कुए के दम पर पूरन राम कर रहा है सब्जी की खेती कमा रहा है 15 से 20 हजार रूपए महीना

रायपुर 15 जुलाई 2020/  पूरन राम ने छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी विकास योजना के तहत् बाड़ी विकास से जुड़कर साग-सब्जी का उत्पादन कर रहे हैं । इससे  पूरन राम को हर महीने 15-20 हजार रूपए की आमदनी हो रही है । श्री पूरन राम ने मनरेगा योजना से अपने खेत में कुंआ निर्माण करा लिया है । कुंआ से उसे खेती-बाड़ी के लिए सालभर भरपूर पानी मिल रहा है ।  कोरोना संक्रमण के कारण लाॅकडाउन के दौरान भी पूरम राम की आमदनी में कमी नही आई है । जशपुर जिले के जनपद पंचायत कुनकुरी से 5 किलोमीटर दूर गांव अम्बाचंुआ के किसान  पूरनराम के खेत में कूप निर्माण के लिए मनरेगा के तहत् 2 लाख 10 हजार रूपए की स्वीकृत मिली। श्री पूरन राम ने बताया कि उसने ग्राम पंचायत भवन जाकर मनरेगा के तहत् दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की और अपने नाम से कूप स्वीकृति हेतु आवेदन दिया। ग्रामसभा से प्...
जशपुर की पहचान: चाय के बागान   कांटाबेल में 40 एकड़ रकबे में विकसित हो रहा चाय बागान
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जशपुर

जशपुर की पहचान: चाय के बागान कांटाबेल में 40 एकड़ रकबे में विकसित हो रहा चाय बागान

 रायपुर, 25 अप्रैल 2020/ छत्तीसगढ़ राज्य के सीमावर्ती जिले जशपुर की जलवायु चाय की खेती के लिए अनुकूल है। यह बात अब प्रमाणित हो चुकी है। सारूडीह में 20 केएकड़ में विकसित चाय बागान की सफलता ने जिला प्रशासन को इस मुहिम को आगे बढ़ाने का हौसला दिया है। वैसे तो जशपुर जिले की पहचान वहां की कला, संस्कृति एवं प्रचुर मात्रा में वन संपदा एवं प्राकृतिक सौंदर्य से आच्छादित पहाड़ियां और सुरम्य वादियों को लेकर है। सारूडीह में बीते पांच सालों से चाय की सफल खेती में जशपुर को एक नई पहचान दी है। यहां पर्वत और जंगल के बीच 20 एकड़ रकबे में अनुपयोगी भूमि पर चाय बागान लग जाने आसपास न सिर्फ हरियाली है, बल्कि पर्यटन और पर्यावरण के लिहाज से भी यह स्थान बेहद मनोरम हो गया है। सारूडीह में उत्पादित चाय की क्वालिटी दार्जलिंग में पैदा होने वाली चाय से बेहतर है। इसे विशेषज्ञों ने माना और सराहा है। जिला प्रशासन द्वारा ...
भूख के विरुद्ध, भात के लिये किसान सभा के देशव्यापी आह्वान पर सैकड़ों गांवों में ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन
कांकेर, कोंडागांव, कोरबा, खास खबर, गरियाबंद, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जगदलपुर, जशपुर, दंतेवाड़ा, दुर्ग, नारायणपुर, बलरामपुर, बिलासपुर, राजनांदगांव, रायपुर

भूख के विरुद्ध, भात के लिये किसान सभा के देशव्यापी आह्वान पर सैकड़ों गांवों में ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

कोरोना महामारी और अनियोजित लॉक डाउन के कारण किसानों, ग्रामीण गरीबों, दिहाड़ी और प्रवासी मजदूरों तथा आदिवासियों के समक्ष उत्पन्न समस्याओं को हल करने के लिए केंद्र सरकार की उदासीनता के खिलाफ अखिल भारतीय किसान सभा के देशव्यापी आह्वान पर आज छत्तीसगढ़ में भी सैकड़ों गांवों में प्रदर्शन किए गए। छत्तीसगढ़ किसान सभा द्वारा इस आंदोलन को *भूख के विरूद्ध, भात के लिए* नाम दिया गया था। इसी प्रकार के विरोध-प्रदर्शनों का आह्वान आदिवासी एकता महासभा, सीटू, जनवादी महिला समिति और जनवादी नौजवान सभा आदि जन संगठनों के द्वारा भी किया गया था, जिसके चलते यह आंदोलन गांवों से बाहर निकलकर शहरों की झुग्गी-बस्तियों और खदानों के गेटों तक पहुंच गया और कई जगहों पर छात्रों और युवाओं ने भी बड़ी संख्या में हिस्सेदारी की। यह जानकारी छत्तीसगढ़ किसान सभा के *राज्य अध्यक्ष संजय पराते और महासचिव ऋषि गुप्ता* ने आज यहां दी। उन्होंने ब...
आदिवासियों क्षेत्रो में सड़ा चावल का वितरण,माकपा ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, कहा — लॉक-डाउन से पैदा जनसमस्याओं का करें निराकरण
कांकेर, कोंडागांव, कोरबा, खास खबर, गरियाबंद, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जशपुर, धमतरी, नारायणपुर, बलरामपुर, महासमुंद, रायगढ़, रायपुर, सरगुजा-अंबिकापुर

आदिवासियों क्षेत्रो में सड़ा चावल का वितरण,माकपा ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, कहा — लॉक-डाउन से पैदा जनसमस्याओं का करें निराकरण

*मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी* ने आज मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर प्रदेश में बढ़ती कोरोना महामारी के मद्देनजर प्रदेश में स्वास्थ्य उपकरणों की कमी को दूर करने, बिलासपुर आईजी द्वारा गैर-सरकारी संगठनों और व्यक्तियों द्वारा चलाये जा रहे राहत कार्यों पर रोक का आदेश निरस्त करने, राशन दुकानों, मध्यान्ह भोजन व आंगनबाड़ियों के जरिये खाद्य वितरण में हो रही धांधली को रोकने, कृषि कार्यों को मनरेगा के दायरे में लाने और रबी फसल को सोसाइटियों द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने तथा आवश्यकता पड़ने पर सर्वदलीय बैठक बुलाने का सुझाव दिया है.Y *माकपा राज्य सचिव संजय पराते* ने संदिग्ध कोरोना मरीजों के जांच और ईलाज के लिए आवश्यक किटों और वेंटीलेटर्स तथा चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों के लिए पीपीई, मास्क व दस्तानों की कमी की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए केंद्र से इनकी आपूर्ति सुनिश्चित कराने और ...
शराब दुकान खोलने पर माकपा ने पूछा — भूपेश सरकार की प्राथमिकता क्या है : कोरोना या मोरोना
कवर्धा, कांकेर, कोंडागांव, कोरबा, कोरिया, खास खबर, गरियाबंद, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जगदलपुर, जशपुर, जांजगीर – चाम्पा, दंतेवाड़ा, दुर्ग, धमतरी, नारायणपुर, बलरामपुर, बलोदा बाज़ार, बालोद, बिलासपुर, बेमेतरा, महासमुंद, मुंगेली, राजनांदगांव, रायगढ़, रायपुर, सरगुजा-अंबिकापुर

शराब दुकान खोलने पर माकपा ने पूछा — भूपेश सरकार की प्राथमिकता क्या है : कोरोना या मोरोना

  *मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी* ने कोरोना महामारी के मद्देनजर लॉक डाऊन के दौरान शराब दुकानें खोले जाने के राज्य सरकार के फैसले की तीखी निंदा की है और पूछा है कि सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि उसकी प्राथमिकता क्या है : कोरोना या मोरोना? पार्टी ने कहा है कि आम जनता की जिंदगी की कीमत पर मुनाफा कमाने की सरकार को इजाजत नहीं दी जा सकती। आज यहां जारी एक बयान में माकपा राज्य सचिव मंडल ने कहा है कि लॉक डाऊन के दौरान प्रदेश की 80% आबादी के सामने आजीविका बर्बाद होने के कारण रोजी-रोटी की समस्या आ खड़ी हुई है। अभी तक सरकार ने दो माह के मुफ्त अनाज की घोषणा के अलावा आम जनता को राहत देने के कोई भी कदम नहीं उठाए हैं। मुफ्त राशन वितरण में भी आदिवासी अंचलों में भारी गड़बड़ियां होने की शिकायतें सामने आ रही है। लॉक डाऊन के दौरान सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर तबकों और बेसहारा लोगों के लिए भोजन की व...