Wednesday, August 5

जन्मदिन पर देह दान करने वाले चंद्राकर दम्पत्ति का सम्मान

भिलाई – अपने जन्मदिन पर सपत्निक देहदान करने की मिसाल कायम करने वाले चंद्राकर दम्पत्ति को भारत विकास परिषद् द्वारा सम्मानित किया गया ! इन देहदानियों के सम्मान हेतु भिलाई के नेहरु नगर स्थित अनिल डागा के निवास में कोरोना संक्रमण के कारण सेनेटाईजेशन के खास प्रबंध किए गए थे ! देहदान करने वाले किसान ग्राम डौकीडीह,जिला बालोद निवासी लोकेश चंद्राकर एवं उनकी पत्नी श्रीमती सुधा चंद्राकर ने एकसाथ देहदान कर अनुठी मिसाल कायम की है। जिन्होंने मरणोपरांत अपनी मृतदेह अध्ययन हेतु राजीवलोचन आयुर्वेदिक कॉलेज चंदखुरी को समर्पित किए जाने की वसीयत सामाजिक संस्था ‘‘प्रनाम’’ के अध्यक्ष पवन केसवानी के माध्यम से पारिवारिक काउंसलिंग के बाद जारी की है। देहदानी किसान लोकेश चंद्राकर के 52वें जन्मदिन पर अविस्मरणीय बनाने देहदान जैसी अनूठी पहल को साकार करने उनकी पुत्री अंजली चंद्राकर ने देहदान की वसीयत में साक्षी के रूप में हस्ताक्षर कर भावनात्मक समर्थन प्रदान किया। देहदान के माध्यम से अनूठी मानवसेवा के लिए  चंद्राकर दम्पत्ति को सम्मानित करने वाली संस्था भारत विकास परिषद् के अध्यक्ष शिवनारायण मोदी ने कहा कि, मृत्यु पश्चात् मानवता की भलाई के लिए चिकित्सा अध्ययन हेतु अपना शरीर दान करने का संकल्प मानवता की उत्कृष्ट मिसाल है ! इस पुनीत कार्य के दौरान उपस्थितजनों में पार्षद जयप्रकाश यादव, अनिल डागा,संतोष तिवारी,केके सिंघल,अमरदीप आनंद,कृष्ण कुमार चंद्राकर,शिवचरण दास गोयल के अलावा उनके पुत्र डॉ.रुपेश चंद्राकर एवं अग्रज कृष्णा चंद्राकर विशेष रूप से उपस्थित थे !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *