दंतेवाड़ा आरती स्पंज आयरन के ख़िलाफ़ जनाक्रोश की जांच करने पहुचा आयोग की सुनवाई

आदिवासियों को न्याय दिलाने
धुर नक्सली क्षेत्र पहुंची
अनुसूचित जनजाति आयोग की टीम, ग्रामीणों के साथ की बैठ7 सितंबर सोमवार दंतेवाड़ा सुकमा बीजापुर के हजारों आदिवासियो ने आलनार गांव में जुलूस निकालकर किया था विरोध

ग्राउंड जीरो से  संजीव दास/दंतेवाड़ा

बैलाडीला पहाड़ी के समीप आलनार लौह अयस्क की पहाड़ी को फर्जी ग्राम सभा कर आरती स्पंज आयरन को बेचे जाने के आरोपो का संज्ञान लेने छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग सदस्य नितिन पोटाई धुर नक्सली क्षेत्र आलनार पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बैठक लेकर ग्रामीणों से चर्चा करते हुए वास्तविक स्थिति की जानकारी ली।पोटाई ने ग्रामीणों को बताया कि संविधान में अनुसूचित क्षेत्रों के लिए विशेष कानून बनाये गये हैं।सम्पूर्ण बस्तर संभाग में संविधान की पांचवी अनुसूची के अंतर्गत आते हैं एवं पेशा एक्ट लागू है। इसलिए यहां सबसे बड़ी संस्था ग्राम सभा है जहां सारे निर्णय लिये जाते हैं। बिना ग्राम सभा के प्रस्ताव के आदिवासी अंचल के किसी भी खदान को किसी संस्था अथवा कंपनी को लीज में नहीं दिया जा सकता यदि बिना ग्रामसभा के प्रस्ताव के आलनार गांव का तरालमेटा लौह अयस्क पहाड़ आरती स्पंज आयरन निजी कंपनी को बेच दिया गया है, तो मामला गंभीर है।।                           https://youtu.be/MRwz_DzoO3Q                                                                                          उन्होंने आगे कहा कि बस्तर अंचल खनिज संसाधनों की दृष्टि से काफी समृद्ध है इसलिए देश के बड़े-बड़े औद्योगिक घरानों के द्वारा इसे हासिल करने के लिए गलत तरीके अपनाये जा रहें हैं। जिससे आदिवासी हितों पर गहरा अघात पहुंच रहा है। आदिवासियों के साथ हो रहे अन्याय का आयोग पूर्ण रूप से संज्ञान ले रहा है उनके अधिकार का हनन नहीं होने दिया जाएगा। ग्रामीणों से चर्चा के दौरान सचिव एच के सिंह,
निज सहायक जय सिंह राज
संदीप कुमार मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *