Wednesday, February 8

Tag: चिन्तक

वरिष्ठ पत्रकार, जवाहर नागदेव की बेबाक कलम सीधे रस्ती की टेढ़ी चाल कांग्रेस का भीड़ जुटाकर लाना नहीं समर्थन का ताना-बाना
खास खबर, देश-विदेश, लेख-आलेख

वरिष्ठ पत्रकार, जवाहर नागदेव की बेबाक कलम सीधे रस्ती की टेढ़ी चाल कांग्रेस का भीड़ जुटाकर लाना नहीं समर्थन का ताना-बाना

जवाहर नागदेव, वरिष्ठ पत्रकार, लेखक, चिन्तक, विश्लेषक उव 9522170700 वन्देमातरम् आरक्षण पर आक्रोशित कांग्रेस बुरी तरह तिलमिला रही है। या कहें कि तिलमिलाने का दिखावा कर रही है ताकि जनता में ये संदेश जाए कि कांग्रेस ही आरक्षित वर्ग की सबसे बड़ी खैरख्वाह है। जब तक ये संदेश नहीं जाएगा वोट केसे पकेगा ? जनअधिकार रैली में लाखों लोगों को आने की तैयारी बताई गयी थी। जिलाध्यक्ष और विधायक को अपने क्षेत्र से दस से बारह हजार लोगों को लाने की जवाबदारी दी गयी थी। इसी तरह हर पार्षद को एक हजार का टॉरगेट दिया गया था। निगम,मण्डल और आयोग के पदाधिकारियों से भी दो हजार से दस हजार की भीड़ अपेक्षित थी। अब ये सब समझते हैं कि जो भीड़ लाएगा टिकट के लिये उसकी आवाज में दम दिखेगा। चाहे पैसे देकर और लंच खिलाकर भीड़ लाई गयी हो। वैसे ये कोई अनजानी बात नहीं है। कांग्रेस ही नहीं हर पार्टी के हर आंदोलन में, सभा में भीड़ दिहाड़ी ...