Tag: महिलायें तो ममता की मूर्ति होती है सरोज पांडेय ने एक महिला होने के बावजूद कभी जीरम के शहीदों के परिवारजनों की पीड़ा क्यों नहीं समझा? त्रिवेदी ने जीरम की साजिशों को लेकर लगाई सरोज से सवालों की झड़ी

महिलायें तो ममता की मूर्ति होती है  सरोज पांडेय ने एक महिला होने के बावजूद कभी जीरम के शहीदों के परिवारजनों की पीड़ा क्यों नहीं समझा?  त्रिवेदी ने जीरम की साजिशों को लेकर लगाई सरोज से सवालों की झड़ी
छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

महिलायें तो ममता की मूर्ति होती है सरोज पांडेय ने एक महिला होने के बावजूद कभी जीरम के शहीदों के परिवारजनों की पीड़ा क्यों नहीं समझा? त्रिवेदी ने जीरम की साजिशों को लेकर लगाई सरोज से सवालों की झड़ी

रायपुर/25 जून 2020। भाजपा नेता सरोज पांडे ने जीरम मामले में बयान पर दुख और पीड़ा व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि महिलायें तो ममता की मूर्ति होती है, सरोज पांडे एक महिला होने के बावजूद कभी जीरम के शहीदों के परिवारजनों की पीड़ा को क्यों नहीं समझा? सरोज पांडे जी के केन्द्र सरकार में बड़े पदों में बैठे लोगों से अच्छे संबंध है। सरोज पांडे ने छत्तीसगढ़ की बड़ी नेता होने के बावजूद कभी भी जीरम के आपराधिक राजनैतिक षड़यंत्र की जांच के लिये प्रयास क्यों नहीं किया? जीरम पर बयान देने के बाद सरोज पांडेय जी को पूरी जिम्मेदारी से बताना चाहिये कि आत्मसमर्पित माओवादी नेता गुंडाधुर से एनआईए ने जीरम की साजिश पर पूछताछ क्यों नहीं की? एनआईए ने जीरम के आपराधिक राजनैतिक षड़यंत्र की जांच क्यों नहीं की? रमन्ना और गणपति के नाम एनआईए की पहली चार्जशीट में थे, फाइन...