Tuesday, September 22

Tag: सताए हुओं को शरण देना नहीं — पराते

मोदी सरकार का मकसद सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करना है, सताए हुओं को शरण देना नहीं — पराते
Uncategorized, खास खबर

मोदी सरकार का मकसद सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करना है, सताए हुओं को शरण देना नहीं — पराते

#रायगढ़। भाजपा-आरएसएस का मकसद इस देश में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करना है, सताए हुए लोगों को शरण देना नहीं है। यदि ऐसा होता, तो श्रीलंका के तमिलों, पाकिस्तान के अहमदियों, म्यांमार के रोहिंग्यों को भी और किसी भी देश के किसी भी प्रकार की प्रताड़ना के शिकार लोगों को शरण को देने की बात की जाती। इस देश में म्यांमार और बंगलादेश के प्रताड़ित रोहिंग्यों को शरण देने और श्रीलंका से प्रताड़ित होकर यहां आए लाखों हिन्दू तमिलों को नागरिकता देने से यह सरकार इंकार कर रही है। दशकों पहले जो बंगलादेशी शरणार्थी भारत के नागरिक बने हैं, उनमें अधिकांश दलित और नमः शूद्र संप्रदाय के हैं, लेकिन उन्हें चुनावी वादे के बाद भी आज तक भाजपा सरकार ने अनुसूचित जाति का दर्जा नहीं दिया है। वे विकास नहीं चाहते; लोगों में फूट डालकर, संविधान के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों को कुचलकर हिन्दू राष्ट्र की नींव रखना चाहते हैं। ◆ *मार्क्स...