Tag: सांप को जाने दे इनको मत छोड़िए

नागपंचमी पर विशेष,चन्द्र शेखर शर्मा की कलम सेबात बेबाक ,सांप को जाने दे इनको मत छोड़िए
कवर्धा, खास खबर, लेख-आलेख

नागपंचमी पर विशेष,चन्द्र शेखर शर्मा की कलम सेबात बेबाक ,सांप को जाने दे इनको मत छोड़िए

नागपंचमी की सभी शेष विशेष खद्दरधारी नाग नागिनों व आस्तीन के सांपो को बधाई मंगलकामनाएँ... जमीन पर रेंगने वाले सरीसृपों में सांपो की प्रजाति में दो मुंहे साँप के अस्तित्व का मिथक है हाँलाकि मैंने आज तक देखा नहीं है किन्तु बताया जाता है दो मुहाँ सांप अपने सामने खतरे को भांप अपनी सुविधानुसार आगे या पीछे चलने में महारथी होता है । संभवतः इसी वजह से इसे दो मुहाँ सांप कहते है । ऐसा ही अद्भुत गुण राजनीतिक अखाड़े में खद्दर धारियों में भी दिखता ही जो सत्ता लोलुपता के चलते अपनी निष्ठा , आत्मा व जमीर तक का सौदा करने से नही चूकते । वैसे जमीन पर रेंगने वाले सरीसृपों की प्रजाति सांपो से भी एक खतरनाक दो पैर , दो हाथ , दो आंख , दो कान , एक नाक और एक दिमाग वाली प्रजाति इस ब्रह्मांड पर पाई जाती है जो जहरीले सांपो से काफी ख़तरनाक जीव है जिसे इन्सान के नाम से जाना व पहचाना जाता है । इन इंसानो में भी दोमुंहों क...