Sunday, September 27

Tag: स्वच्छता कभी सो जाऐ तो फुलझरिया गांधी को पढ लेना

स्वच्छता कभी सो जाऐ तो फुलझरिया गांधी को पढ लेना ,,, कथन को चरितार्थ कर रहा है कैंटू साथुआ
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, महासमुंद

स्वच्छता कभी सो जाऐ तो फुलझरिया गांधी को पढ लेना ,,, कथन को चरितार्थ कर रहा है कैंटू साथुआ

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमुंद स्वच्छता कभी सो जाऐ तो फुलझरिया बापू को पढ लेना ,,, कथन को चरितार्थ कर रहा है कैंटू साथुआ महासमुंद - खुला बदन, खुले विचार, रग रग मे बापू के आदर्शो की अमिट छाप धारण करनेवाले *स्वच्छता वरियर्स कैंटु साथुआ तोषगाव* आज की युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत बने हुए हैं .छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिला अन्तर्गत सरायपाली ब्लॉक के जागरूक ग्राम तोषगांव की स्वचछता से ही इनके दिनचर्या की शुरुआत होती है .लेकिन विडंबना है कि स्वच्छता अभियान के ऐसे प्रणेता राष्ट्रीय मीडिया की हेडलाइन नहीं बन पाते और गांव की गलियों में ही सिमट कर रह जाते हैं। कैंटू साथुआ का मानना है .... गिरा जहाँ पर पसीना, फुलझरिया बापू का, वहाँ का पत्थर पत्थर जिन्दा है, जिस्म नही है पर, नाम का अक्षर अक्षर जिन्दा है, जीवन मे ये अमर कहानी, अक्षर अक्षर पढ़ लेना, स्वच्छता अगर कभी सो जाए तो, फुलझरिया बापू को पढ़...