Friday, September 25

Tag: हरतालिका तीज (गौरी तृतीया) नारी के संकल्प शक्ति निष्ठा का प्रतीक है

हरतालिका तीज (गौरी तृतीया) नारी के संकल्प शक्ति निष्ठा का प्रतीक है
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

हरतालिका तीज (गौरी तृतीया) नारी के संकल्प शक्ति निष्ठा का प्रतीक है

*हरतालिका तीज (गौरी तृतीया) व्रत दिनांक २१ अगस्त:-* हरतालिका तीज का व्रत हिन्दू धर्म में सबसे बड़ा व्रत माना जाता है। यह तीज का त्यौहार भाद्रपद मास शुक्ल की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। यह आमतौर पर अगस्त– सितम्बर के महीने में ही आती है। इसे गौरी तृतीया व्रत भी कहते हैं। भगवान शिव और पार्वती को समर्पित इस व्रत को लेकर इस बार उलझन की स्थिति बनी हुई है। व्रत करने वाले इस उलझन में हैं कि उन्हें किस दिन यह व्रत करना चाहिए। इस उलझन की वजह यह है कि इस साल पंचांग की गणना के अनुसार तृतीया तिथि का क्षय हो गया है यानी पंचांग में तृतीया तिथि का मान ही नहीं है। आपको बता दें कि इस विषय पर ना सिर्फ व्रती बल्कि ज्योतिषशास्त्री और पंचांग के जानकर भी दो भागों में बंटे हुए हैं। एक मत के अनुसार हरतालिका तीज का व्रत 21 अगस्त को करना शास्त्र सम्मत होगा क्योंकि यह व्रत हस्त नक्षत्र में किया जाता है जो 21 ...