कवर्धा महिलाओं के साथ गांजा तस्करी करते धर दबोचे गए तस्कर

थाना बोड़ला पुलिस को अवैध गांजा तस्करो को पकड़ने में मिली सफलताआरोपियों द्वारा पुलिस को चकमा देने मोटर सायकल में महिलाओं को बैठाकर बैग में कपड़ों के नीचे मादक पदार्थ गांजा छुपाकर कर रहे थे परिवहन ।**दो अलग – अलग प्रकरणों में दो पुरुष एक महिला एक नाबालिग गिरफ्तार।* *23 किलोग्राम गांजा एवं दो मोटर सायकल जप्त ।* कबीरधाम पुलिस अधीक्षक  के.एल. ध्रुव के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  अनिल कुमार सोनी तथा अनुविभागीय अधिकारी पुलिस बोडला   श्अजित ओगरे के मार्गदर्शन में मादक पदार्थ शराब , गांजा तस्करो के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के अंतर्गत  07 सितम्बर के दरमियानी रात थाना बोडला . टीम द्वारा सघन वाहनों की चेकिंग की जा रही थी इसी दौरान पोड़ी की ओर से दो मोटर सायकल एमपी 08 एमआर 4887 एवं बिना नंबर वाले स्पलेंडर प्लस को चेक करने पर वाहन में रखे बैग में साड़ी के नीचे पुलिस को चकमा देने की नियत से आरोपियों 01.देबीलाल पिता कन्हैया लाल मीना उम्र 48 साल सा . अम्बेह थाना कुमराज 02.कलीबाई पति बंशीलाल बंजारा उम्र 38 साल सा . खरमोदिया 03. बंसीलाल पिता भामा जी बंजारा उम्र 25 साल सा . खरमोदिया, तीनो थाना कुमराज जिला गुना ( म.प्र .) के द्वारा दो अलग अलग मोटर सायकल में रखे बैग में साड़ी के नीचे 16 पैकेट कुल वजन 23 किलोग्राम मादक पदार्थ गांजा कुल किमती 115,000 / -रूपये मादक पदार्थ गांजा को छिपाकर अवैध रूप से परिवहन कर रहे थे लेकिन बोडला पुलिस के सर्तकता , सजगता एव उच्च कोटि के कार्यकुशलता के आगे आरोपियों की चालाकी काम नहीं आई और मोटर सायकल वाहन में गांजा के साथ पकडे गये आरोपियों से पुछताछ पर उक्त मादक पदार्थ को रायपुर से मध्यप्रदेश ले जाना बताया गया और रास्ते में सिमगा , बेमेतरा पुलिस को चकमा देते कबीरधाम जिला में प्रवेश किया गया था परंतु छ.ग. सीमा पास करने के पूर्व थाना . बोडला जिला कबीरधाम पुलिस की सजगता से पकड़े गये जिस पर थाना बोड़ला में अपराध क्रमांक 192 , 193/2020 धारा 20 ख एनडीपीएस एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही कर दो पुरुष एक महिला एक नाबालिक बालिका चारो आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायायिक अभिरक्षा में भेजा गया है। उक्त कार्यवाही में थाना बोडला प्रभारी निरीक्षक श्री संतराम सोनी , सउनि पंचराम वर्मा , प्र.आर. 292 शोभनाथ मेरावी . आरक्षक संजू चंद्रवंशी , युसुफ खान , पुरुशोत्तम वर्मा , सुरेश धुर्वे , देवसिंह धुर्वे एवं डायल 112 के कर्मचारियो का सराहनीय योगदान रहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *