छत्तीसगढ़ देश में पहला राज्य जहां शासन द्वारा गोबर खरीदकर किया जाएगा जैविक खाद का निर्माण: वन मंत्री मोहम्मद अकबर

 
राजनांदगांव के ग्राम सलोनी में गोधन न्याय योजना का किया शुभारंभ
 
पशुपालक एवं स्व-सहायता समूह को मिलेगा आय का साधन
 
रायपुर, 20 जुलाई 2020/ हरेली तिहार के अवसर पर परिवहन, आवास एवं पर्यावरण, वन, विधि एवं विधायी कार्य विभाग एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने आज राजनांदगांव विकासखंड के ग्राम सलोनी में किसानों से गोबर खरीदकर गोधन न्याय योजना का शुभारंभ किया और कृषि यंत्रों की पूजा की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वन मंत्री श्री अकबर ने हरेली तिहार की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पूरे देश में छत्तीसगढ़ पहला राज्य है, जहां गोबर खरीदने का निर्णय लेते हुए गोधन न्याय योजना आरंभ की गई है और इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को बधाई दी। उन्होंने कहा कि गोबर से वर्मी कम्पोस्ट बनाकर इसका उपयोग जैविक खाद के रूप में खेती-किसानी में किया जाएगा। छत्तीसगढ़ में 20 हजार गांव है और लगभग 11300 ग्राम पंचायत है, जिनमें 4300 गौठानों का निर्माण होना है। वहीं आज 2785 गौठानों में गोबर खरीदी का कार्य किया जा रहा है। आने वाले समय में यह कार्य विस्तारित रूप लेगा और किसान जैविक खाद खरीद सकेंगे तथा शेष खाद का उपयोग वन विभाग, कृषि विभाग एवं शासन द्वारा किया जाएगा। गोबर एकत्रित करने वाले किसान एवं स्व-सहायता समूह को आय का साधन उपलब्ध होगा। इस अवसर पर वन मंत्री श्री अकबर को खुमरी पहनाकर स्वागत किया गया।
वन मंत्री श्री अकबर ने कहा कि शासन द्वारा किसानों के हित में अनेक निर्णय लिए गए हैं। किसानों की कर्ज माफी करने के साथ ही पिछले वर्ष 25 सौ रूपए समर्थन मूल्य में 20 हजार करोड़ रूपए की धान खरीदी की गई। उन्होंने कहा कि केन्द्र शासन द्वारा 18 सौ रूपए समर्थन मूल्य घोषित किए जाने पर राज्य शासन ने राजीव गांधी न्याय योजना के तहत किसानों को अंतर की राशि की पहली किश्त प्रदान की। वही देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी के जन्मदिवस के अवसर पर किसानों को दूसरी किश्त की राशि प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बड़ी आबादी लगभग 65 लाख परिवार का राशन कार्ड बन गया है। उन्होंने कहा कि किसानों के सिंचाई कर की माफी शासन की ओर से की गई है। इस अवसर पर उन्होंने गौठान परिसर में पौध रोपण भी किया।
अन्त्यव्यवसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम के चेयरमेन श्री धनेश पाटिला ने कहा कि आज का यह दिन ऐतिहासिक है। इस योजना के तहत सरकार पशुपालकों से दो रूपए प्रतिकिलो की दर से गोबर खरीदेगी और इससे जैविक खाद तैयार किया जाएगा। जैविक खाद के उपयोग से खाद्यान्न उत्पादन में बढा़ेत्तरी होगी, वहीं किसानों एवं स्व-सहायता समूहों को भी आर्थिक लाभ मिलेगा। किसानों को उनका हक मिला है और अब गौठान के निर्माण से पशुधन की सुरक्षा भी हो रही है। इस अवसर पर श्री पंकज शर्मा ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।
कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने कहा कि गोबर खरीदी योजना के अंतर्गत दूसरे चरण में 395 गांव की स्वीकृति मिली है, जहां गोबर खरीदी की जाएगी। निश्चित ही शासन के इस कदम से किसानों के जीवन स्तर में उन्नति होगी।
इस मौके पर वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने कार्यक्रम में लगाए गए स्टाल का अवलोकन किया। इस अवसर पर महापौर श्रीमती हेमा देशमुख, सरपंच ग्राम सलोनी श्री रतन यादव, पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र शुक्ला, अपर कलेक्टर श्री ओंकार यदु, श्री हरिकृष्ण शर्मा एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन जिला पंचायत सीईओ श्रीमती तनुजा सलाम ने किया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक श्री परदेशी राम साहू ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *