डीजीपी डीएम अवस्थी के एक वीडियो कॉल से खिले पुलिसकर्मियों और परिजनों के चेहरे, बीस साल बाद हुआ ट्रांसफर, मिली अनुकम्पा नियुक्ति

 

 

बेटे की मौत से दुखी अकेली रह रही मां को मिल सकेगा पति का सहारा

 

डीजीपी ने पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों को वीडियो काॅल कर किया समस्याओं का तत्काल निराकरण

रायपुर-  छत्तीसगढ़ में तैनात पुलिसकर्मियों को तनाव रहित रखने के लिए स्पंदन योजना की शुरूआत की गई है। इसी क्रम में आज डीजीपी  डीएम अवस्थी ने पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों से वीडियो कॉल के जरिए बात की और उनकी समस्याओं का तत्काल समाधान किया। बलरामपुर में पदस्थ आरक्षक श्रीमती हेमलता साहू ने बताया कि उनका बच्चा जन्म से ही कमजोर है और सास लकवा से पीड़ित हैं जो कि बिस्तर से उठ भी नहीं सकती हैं। श्रीमती हेमलता वीडियो कॉल के जरिए बीमार सास की स्थिति से डीजीपी को अवगत कराते हुए रो पड़ीं और कहा कि उनको बीमार बच्चा, सास की देखभाल और ड्यूटी के बीच सामंजस्य बैठाने में बहुत ही परेशानी हो रही है। मेरे पति की पोस्टिंग संकरी बटालियन बिलासपुर में है। डीजीपी श्री अवस्थी ने संवेदनशीलता दिखाते हुए तत्काल हेमलता साहू का स्थानांतरण बलरामपुर से बिलासपुर करने के निर्देश जारी कर दिए। श्री अवस्थी ने कहा कि आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, आप अपना सामान पैक करिए। आपका स्थानांतरण आदेश आज ही आपके पास पहुंच रहा है। इतना सुनते ही हेमलता और उनकी सास भावुक हो गईं और स्पंदन योजना शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आभार व्यक्त किया।

दुर्ग निवासी शुभांगनी सेंगर ने बताया कि उनके पिता का देहान्त मार्च में हो गया था। मैं अनुकंपा नियुक्ति आरक्षक(अ) वर्ग में चाहती हूं। परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी अब मेरे ही ऊपर है। दुर्ग के आस-पास किसी जिले में मुझे नियुक्ति दे दी जाए जिससे मैं अपनी मां का भी ख्याल रख सकूं। श्री अवस्थी ने शुभांगनी से कहा कि आप निश्चिंत रहिए, बालोद जिले के लिए नियुक्ति-पत्र बहुत जल्द आपके घर पहुंच जायेगा। बस्तर के पखनार कैंप में पदस्थ आरक्षक अखिलेश यादव ने कहा कि उनका घर राजनांदगांव में है, कुछ समय पहले मेरे बच्चे का आकस्मिक निधन हो गया है। जिसके बाद से मेरी पत्नी लगातार अवसाद में है। श्री अवस्थी ने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में आपका पत्नी के इलाज और भावनात्मक सहयोग के लिए उनके पास रहना जरूरी है। श्री अवस्थी ने तत्काल राजनांदगांव बटालियन के कमाण्डेंट श्री सरजू राम सलाम को फोन लगाकर अखिलेश यादव को पखनार से राजनांदगांव स्थानांतरित करने के निर्देश दिए।

दंतेवाड़ा के पोटाली कैम्प में पदस्थ छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के जवान केशव कुमार ने कहा कि उनकी दोनों किडनी खराब है, गठियावात और मोतियाबिंद है। मेरा परिवार दुर्ग में रहता है। घर से दूर रहकर स्वास्थ्य लगातार खराब हो रहा है। श्री अवस्थी ने केशव कुमार के खराब स्वास्थ्य को देखते हुए तुरंत दुर्ग पुलिस लाईन पदस्थ करने के निर्देश जारी किए। अन्य कॉलर श्रीमती उर्मिला ने बताया कि उनके पति श्री ओसन्त कुमार चन्द्रा बीस साल से जशपुर में पदस्थ हैं जो बिलासपुर स्थानांतरण चाहते हैं। मुझे बेटे का एडमिशन भी ग्यारहवीं कक्षा में कराना है। डीजीपी ने आश्वस्त किया कि आज ही आपके पति का स्थानांतरण आदेश निकाल दिया जायेगा। बिलासपुर में पदस्थ एएसआई श्रीमती रूपा ठाकुर ने बताया कि उनका तीन बार मिस्कैरिज हो चुका है। मेरे पति और छोटी बच्ची रायगढ़ में रहते हैं मुझे भी रायगढ़ स्थानांतरित कर दिया जाये। श्री अवस्थी ने एएसआई रूपा की परेशानी देखते हुए तुरंत रायगढ़ स्थानांतरित करने के आदेश जारी कर दिये। एएसआई रेडियो चुमेश कुमार साहू की पत्नी ने बताया कि मैं राजिम में नगर पंचायत में इंजीनियर हूं और पति चुमेश कोरिया में पदस्थ हैं। मुझे छोटी बच्ची की देखभाल और ऑफिस के बीच सामंजस्य में परेशानी हो रही है। श्री अवस्थी ने चुमेश कुमार साहू को तत्काल रायपुर स्थानांतरित करने के निर्देश जारी कर दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *