पवित्र गयाजी एवं अजमेर शरीफ में राम भक्त भूपेश सरकार बनाए छत्तीसगढ़ धर्मशाला – रिजवी

रायपुर।  18/08/2020। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख एवं मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से कहा है कि बिहार स्थित महत्वपूर्ण धर्म स्थल गयाजी में हिन्दू समाज के लोग अपने सगे सम्बन्धियों का पिण्डदान के रिवाज को पूरा करने छत्तीसगढ़ से भी बड़ी संख्या में पिण्डदान करने वहां जाते रहते हैं। पिण्डदान करने वालों को गयाजी में ठहरने की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। प्रदेशवासियों को गयाजी में होने वाली कठिनाई से निजात दिलाने प्रदेश सरकार द्वारा सर्वसुविधायुक्त धर्मशाला का निर्माण कराया जाना अति आवश्यक है। इस धर्मशाला का नाम छत्तीसगढ़ भवन रखा जाए।
रिजवी ने धार्मिक मान्यता का हवाला देते हुए बताया है कि भगवान श्री राम जी ने भी अपने पिताश्री राजा दशरथ का पिण्डदान गयाजी में ही किया था जो इस धार्मिक स्थल के महत्व को बढ़ाता है। गयाजी बौद्ध धर्म के मानने वाले तथा भारतरत्न व संविधान निर्माता डा. बी.आर. अम्बेडकर के अनुयायियों के लिए भी मान्यता प्राप्त धर्म स्थल है। यहीं पर बोधि वृक्ष के नीचे बैठकर तपस्योपरान्त भगवान गौतम बुद्ध ने निर्वाण की प्राप्ति की थी। प्रदेश से बौद्ध धर्म के मानने वालों की बड़ी संख्या को देखते हुए भी गयाजी में धर्मशाला का निर्माण आवश्यक है।
रिजवी ने मुख्यमंत्री जी का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि अजमेर शरीफ में ख्वाजा गरीब नवाज की मुकद्दस दरगाह पर प्रदेश से जियारत के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु जाते हैं। वहां पर भी श्रद्धालुओं की सहूलियत के लिए प्रदेश सरकार छत्तीसगढ़ सराय का निर्माण कराने का निर्णय लेवें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *