पीएम मोदी बोले- जब देशहित के लिए काम करते हैं तो काफी गुस्सा झेलना पड़ता है

नई दिल्ली। देश के अधिकतर राज्यों में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हालात चिंता जनक है। जहां कई लोग नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ नारे लगाकर प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ सरकार के खिलाफ ये प्रदर्शन हिंसात्मक हो गया। पहले दिल्ली में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों के रूप में उपद्रवियों ने हिंसात्मक प्रदर्शन किया जिसके बाद पुलिस को हिंसा रोकने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा और कल उत्तर प्रदेश में कई जगह एनआसी और कैब को लेकर आगजनी और तोड़फोड़ की गई। देश के लगभग हर राज्य से नये नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन और हिंसा की खबरें आ रही हैं। लोग मोदी सरकार को तानाशाह कह रह कर आजादी की मांग कर रहे हैं।
देश के ऐसे माहौल पर पीएम मोदी का बयान आया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को दिल्ली के एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया और वहां के लोगों को संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश के लिए काम करने में काफी गुस्सा झेलना पड़ता है, कई लोगों की नाराजगी झेलनी पड़ती है इसके अलावा कई आरोपों से गुजरना पड़ता है। देश की अर्थव्यवस्था से जुड़े ASSOCHAM के इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने देश के वर्तामान हालात पर ऐसा बयान दिया है।
पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत में ऐसी सरकार है जो किसानों, मजदूरों और कॉरपोरेट जगत की बातें सुनती है। हम भारतीय अर्थव्यवस्था को आधुनिक और औपचारिक बनाना चाहते हैं। हम कर प्रणाली को पारदर्शी, प्रभावी तथा जवाबदेह बनाने के लिये ऐसी व्यवस्था की ओर बढ़ रहे हैं जिसमें आकलन के दौरान करदाताओं और कर अधिकारियों को एक-दूसरे के बारे में पता नहीं चलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *