बारनवापारा अभ्यारण क्षेत्र में वन्यजीवों का शिकार कर खाल बेचने की फिराक में पुलिस के हत्थे चढ़े तीन आरोपी 30 लाख रूपए के तेंदुए और हिरण की खाल जप्त वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत की गई कार्यवाही महासमुंद – वन्य जीवो का शिकार कर उनकी बेशकीमती खाल को बेचने की फिराक में ग्राहक तलाश कर रहे तीन आरोपियों को महासमुंद पुलिस ने धर दबोचा है आरोपियों के कब्जे से हिरण और तेंदुए की खाल बरामद हुई है जिसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 30 लाख रुपए बताई गई है आरोपियों के खिलाफ वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत पुलिस कार्रवाई कर रही है महासमुंद और बलौदाबाजार जिले की सीमा पर स्थित बारनवापारा अभ्यारण क्षेत्र में लगातार वन्यजीवों के शिकार के जाने की सूचनाएं मिलने के बाद महासमुंद जिला पुलिस काफी अलर्ट हो गई थी और जिला पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के निर्देशन में लगातार वन्यजीवों के शिकार करने वालों पर नजर रखी जा रही थी इस बीच पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी थाना क्षेत्रों को भी इसके लिए निर्देशित किया गया था इस बीच सायबर सेल पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि झगरेनडीह इलाके में कुछ लोग वन्यजीवों का खाल बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे हैं, सूचना के आधार पर पुलिस ने अपने मुखबिरों को सक्रिय कर दिया और इलाके की जानकारी मिलने के बाद ग्राहक बनकर पुलिसकर्मी संबंधित लोगों के पास पहुंचे जहां कुछ लोगों द्वारा तेंदुए और हिरण का शिकार कर खाल बेचने के लिए ग्राहक की तलाश की जा रही थी टीम ने मुखबिरों को ग्राहक बनाकर उनके संपर्क करने के लिए कहा और खाल आदि को जंगल से बाहर निकालने के लिए प्लान बनाया। साइबर सेल की टीम और साकरा थाना के पुलिस स्टाफ द्वारा बरनाईदादर झगरेनडीह चौक के पास तेंदुए और हिरण की खाल का सौदा करने वाले थे , इसी बीच ग्राम बरनईदादर चौक के पास तीन लोगों को घेराबंदी कर पकड़ा गया तीनों आरोपियों ने अपना नाम शेख शहाबुद्दीन, बलिराम और जोहन बरिहा बताया जो बलौदाबाजार जिले के रहने वाले हैं, उनके पास तलाशी लेने पर दो बोरे में रखे एक नग तेंदुए की खाल और एक नग हिरण की खाल मिला। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी पुलिस को गुमराह करते रहे और तेंदुए और हिरण की स्वाभाविक मौत होना बताकर खाल निकालना बताते रहे। साइबर सेल की टीम और थाना की टीम ने जब कड़ाई से पूछताछ की तब उन्होंने अभ्यारण क्षेत्र से 1 माह पूर्व तीर कमान से शिकार कर खाल को शिकार करना स्वीकार किया और खाल निकालकर बेचने की फिराक में थे जप्त खाल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगभग 30 लाख रुपए बताई गई है एक तेंदुए की खाल, एक नग हिरण की खाल और तीर कमान भी बरामद किया गया है। आरोपियों के खिलाफ वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है पूरे कार्यवाही में महासमुंद जिला पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के साथ साकरा थाना प्रभारी पीडी कुजूर एवं तमाम स्टाफ का काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *