रायपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे (एनएच-30) पर किसानों ने लगाया जाम 

 

  • सैकड़ों वाहन फंसे, 48 घण्टे से जारी है  चक्का जाम
  • कलेक्ट्रेट के दरवाजे में भी 48 घण्टे से जारी है प्रदर्शन

कवर्धा – किसानों से एक-एक धान खरीदने का वादा और दावा हवा हो गया है । धान नहीं बेच पाने से नाराज किसान सड़को पर उतर आए। उन्होंने कवर्धा के ग्राम बिरकोेना मे रायपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे (एनएच-30) पर जाम लगा दिया । गुरुवार दोपहर 2 बजे से किसानों का चक्काजाम शुक्रवार को 48 घंटे बाद भी जारी है। जाम के चलते सड़क पर करीब कवर्धा से लेकर बेमेेेतरा तक 50 किमी लंबा जाम लग गया है।

नेशनल हाइवे के साथ साथ किसान कलेक्टर कार्यालय के गेट के सामने 48 घण्टे से लगातार धान खरीदी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं साथ ही साथ ढोल नगाड़ा बजा कर और फाग गा कर प्रशासन व सरकार को जगाने का प्रयास कर रहे है ।

किसान लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने बिरकोना में राष्ट्रीय राजमार्ग में धान से लदी अपनी गाड़ियों को आड़ा-तिरछा कर सड़क पर खड़ा कर दिया है। किसानों के इस विरोध प्रदर्शन और जाम के चलते रायपुर और बिलासपुर जाने वाली 20 से अधिक यात्री बसें भी मार्ग बदल कर थानखमहारिया होते हुए चल रहीं है। हाईवे पर ट्रकों के साथ ही चार पहिया वाहन भी फंस गए हें। ग्राम छिरहा से बिरकोना से धर्मपुरा तक वाहनों की कतार लगी हुई है। किसानों ने रातभर नगाढ़ा बजाकर शासन-प्रशासन को जगाने का प्रयास किया, लेकिन प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी अब तक चक्का जाम को खोलवाने में नाकाम साबित हुए है ।

जिसे शासन प्रशासन की नाकामी के रूप में देखा जा रहा है ।

प्राप्त जानकारी अनुसार जिले के 
लगभग 12 हजार किसान अपना 9.30 लाख क्विंटल धान बारदाने की कमी के चलते नहीं बेच पाये है। टोकन कटा हुआ है, लेकिन बारदाना नहीं होने के कारण खरीदी नहीं हो सकी है। किसानों की मांग है कि धान खरीदी की समय सीमा बढ़ाई जाए।

किसानों ने अनिश्चिकालीन धरना प्रदर्शन की चेतावनी पहले ही देदी थी परंतु शासन प्रशासन ने समय रहते ध्यान नही दिया जिससे किसानों में आक्रोश फैला हुआ है  । किसान हाईवे और कलेक्ट्रेट के बाहर ही जमे हुए हैं। वहीं उन्होंने चूल्हा जलाकर चटनी-भात पकाया और खाया। इसके साथ ही किसान ढोलक बजाकर फाग गा गा कर मुख्यमंत्री और मोहम्मद आकर को कोसते लबरा सरकार कब नारे लगा रहे हैं। वहीं भारतीय किसान संघ ने चेतावनी  दी है कि जब तक किसानों से धान खरीदी नहीं होगी, धरना खत्म नहीं होगा।

आज भाजपा ने भी धान खरीदी के मुद्दे को लेकर भारत माता चौक में एक दिवसीय धरना देकर सरकार को कोसा और किसानों का एक एक दान खरीदने का गंगाजल लेकर किया वादा याद दिलाया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *