सीएम हाऊस के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने वाले बेरोजगार हरदेव की उपचार के दौरान मौत ,सरकार से अमित जोगी ने पूछा आठ सवाल

स्वहरदेव सिन्हा की बेहद संदिग्ध मौत को लेकर पूछे 8 सवाल – अमित जोगी
*स्वहरदेव कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट को और मृत्यु प्रमाण पत्र को सार्वजनिक क्यों नही किया? – अमित जोगी
*स्वहरदेव के भाई और उसकी विधवा को सरकार तत्काल नौकरी और 25 लाख सहयोग राशि दे – अमित जोगी
*स्वहरदेव की दोनों बेटियां संजना और हसीना को पिता की कमी महसूस नही होने दूंगा – अमित जोगी
आज स्वहरदेव सिन्हा को श्रधांजलि देने धमतरी जिला के तेलीनसत्ती गांव में उनके निवास स्थान पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़जे के अध्यक्ष श्री अमित जोगी हुंचे।
स्वहरदेव सिन्हा के पिता श्री प्यारेलाल सिन्हा जी के अनुसार 24 दिनों लगातार उपचार के बाद अचानक कल रात करीब 12 बजे उनके पुत्र को डॉक्टर द्वारा मृत घोषित कर दिया गयाउसके तत्काल बा पुलिस की मौजूदगी में स्वहरदेव के पार्थिव शरीर को कालड़ा र्सिंग होम के ICU से बाहर यह  कर ले जाया गया कि उसकी मृत्यु उपरान्त परीक्षण (पोस्टमार्टमकरने के लिए ले जा रहे हैस्व.हरदेव के पार्थिव शरीर के सं पुलिस प्रशासन द्वारा ना तो सके पिता श्री प्यारेलाल सिन्हा जी और ना ही अन्य किसी परिजन को ले जाया गया 
सुबह 6 बजे पुलिस के अधिकारी द्वारा स्वहरदेव के पिता श्री प्यारेलाल सिन्हा को एक पुलिस थाना ले जाया गयावहा पर एक वाहन खड़ी थी जिसमे हरदेव सिन्हा के पार्थिव शरीर को नए कपड़े पहना कर नए झिल्ली में रखा गया था  पुलिस के अधिकारियों ने हरदेव के पार्थिव शरीर वाले वाहन में सुबह बजे श्री प्यारेलाल सिन्हा को उसके गांव तेलीनसत्ती रवाना कर दिया गया  गांव वालों के अनुसार स्व हरदेव सिन्हा का दाह– संस्कार उसके गांव में बजे कर दिया गया था।
इस पूरे घटना क्रम को बेहद संदिग्ध बताते हुए अमित जोगी ने मां कीकि सरकार को यह 8 बातें स्पष्ट करना चहिये कि क्या ?
पोस्टमार्टम किसके द्वारा किया गया?
  1. उसके दौरान वहा कौन कौन उपस्थित थे ?
3पोस्टमार्टम कहाँ किया गया
  1. सर्वोच्य न्यायालय के पालन अनुसार क्या पोस्टमोर्टम की वीडियोग्राफी कराई गई ?
5पोस्टमार्टम में हरदेव सिन्हा के मृत्यु का क्या कारण बताया गया ?
6अभी तक उसका मृत्यु प्रमाण त्र परिजनों को क्यों नही दिया गया ?
7पोस्टमार्टम रात के अंधेरे में working hour में क्यों नही किया गया ?
8स्वहरदेव के परिजनों को उपस्थित क्यों नही रखा गया ?
इनमे से किसी भी प्रश्न का उत्तर अभी तक परिजनों को नही मिला है 
अमित जोगी ने कहा कि इस पूरे घटना क्रम में दुःख की बात यह है कि 24 दिनों तक मुख्यमंत्री निवास से केवल ढाई किलो मीटर दूर हरदेव हॉस्पिटल में जीवन और मौत के बीच लड़ता रहा किन्तु उसका हा जानने 10 रुपये का पेट्रोल खर्चा करके 10 मिनट का समय किसी के पा नही था 
अमित जोगी ने ने इस पूरी घटना क्र में जानकारी धमतरी जिला कलेक्टर को दी तथा तत्काल उचित कार्यवाही करने की मांग की 
कोरोना काल मे आंगन बाड़ी बंद होने के कारण स्वहरदेव सिन्हा  उसके बड़े भाई केशव सिन्हा के चारचार
छोटेछोटे बच्चो को अतिरिक्त राशनउनकी पढ़ाई का खर्चा तथा केशव और स्वहरदेव की विधवा को त्काल नौकरी देने की शासन से मां करी।
अमित जोगी ने कहा की जैसे पिछले चार सालों से भाई स्वयोगेश साहू कि बहनों को भाई की कमी कभी महसूस होने नही दी है , ठीक वैसे ही छत्तीसगढ़ महतारी के आशीर्वाद से स्वहरदेव सिन्हा की दोनों बेटियों संजना और हसीना को भी पिता की कमी का एहसास नही होने देंगे 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *