स्पर्श क्लीनिक में मानसिक रोगियों के लिए 10 को लगेगा निशुल्क कैम्प


दुर्ग, 8 अक्टूबर 2020। राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता सप्ताह 09 अक्टूबर से 12 अक्टूबर तक मनाया जा रहा है। ‘विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस’ विश्व में मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों के बारे में जागरूकता लाने और मानसिक स्वास्थ्य के सहयोगात्मक प्रयासों को संगठित करने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 10 अक्टूबर को मनाया जाता है। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस को लेकर इस वर्ष 2020 का थीम “सभी के लिए मानसिक स्वास्थ्य ” (mental health for all ) है। इस दौरान लोगों में जागरुकता लाने के लिए सोशल मिडिया में प्रचार-प्रसार करते हुए वेबीनार का आयोजन भी किया जाएगा।
स्पर्श क्लिनिक दुर्ग के मनोरोग चिकित्सक डॉ. आकांक्षा गुप्ता दानी ने बताया, जिला अस्पताल में ‘विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस’ के मौके पर 10 अक्टूबर को एक दिवसीय निशुल्क जांच व परामर्श शिविर आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने बताया मानसिक रोगों के प्रति समाज में जागरुकता लाने से इस रोग से प्रभावितों की संख्या में कमी लाई जा सकती है। मानसिक रोग से ग्रसित व्यक्ति आत्महत्या जैसे आत्म घाती कदम भी उठा लेते हैं। इसलिए इसके लक्षणों के बारे में समाज में जागरुकता लाने की जरुरत है ।  मनोरोग चिकित्सक डॉ. दानी ने बताया, स्पर्श क्लीनिंक के ओपीडी में प्रतिदिन लगभग 25से 30  से अधिक मरीज इलाज कराने पहुंच रहे हैं। इसके अलावा फिवर क्लीनिक में आने वाले मरीजों, कोविड-19 के शिकार ऐसे परिवार जिन्होंने अपनों को खो दिया है  होम आइसोलेशन  में रहने वाले लोगों की मानसिक समस्याओं का समाधान एवं परामर्श  भी  फोन द्वारा किया  जा रहा है।
डॉ. दानी ने बताया जिला स्तर मेंटल हेल्थ फॉर ऑल को लेकर जन जागरुकता के लिए  वेबीनार आयोजित कर, मानसिक स्वास्थ्य को लेकर पोस्टर, बैनर, रेडियो जिंगल्स के माध्यम से प्रचार प्रसार किया जाना है। कोविड-19 के मरीजों को बेहतर सुविधा मुहैया कराने एवं जनजागरुकता के लिए एक लघु फिल्म का निर्माण भी  किया जा रहा है। ताकि लोग अपने आसपास व परिचित व रिश्तेदारों की मानसिक रोग के लक्षण जैसे असामान्य बाते नजर आने पर तत्काल मनोराग चिकित्सक से संपर्क कर सकें | ऐसे नर्सिंग स्टॉफ जो कोविड वार्ड में डयूटी पर तैनात हैं और उनकी परिजनों को जिनके अपने कोविड-19 से छिन गए हों उनका भी काउंसलिंग कर इलाज किया जा रहा है।
मानसिक रोगियों की पहचान
मानसिक रोग का सामान्य लक्षण उदास रहना है। यदि आपकी जान-पहचान में कोई व्यक्ति काफी उदास रहता है, तो उससे बात करें क्योंकि हो सकता है कि वह किसी मानसिक रोग का शिकार हो। दोस्तों, परिवार इत्यादि से अलग रहना- यदि कोई व्यक्ति अपने दोस्तों, परिवार इत्यादि से अलग रहता है, तो हो सकता है यह मानसिक रोग का लक्षण हो। जब एक व्यक्ति ठीक से सोच नहीं पाता, उसका अपनी भावनाओं और व्यवहार पर काबू नहीं रहता, तो ऐसी हालत को मानसिक रोग कहते हैं। मानसिक रोगी आसानी से दूसरों को समझ नहीं पाता और उसे रोज़मर्रा के काम ठीक से करने में मुश्किल होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *