नारायणपुर के 101 शिक्षण संस्थान हुए तम्बाकू मुक्त संस्थाओं को बेहतर कार्य के लिये दिए गए प्रमाण पत्र

नारायणपुर 24 नवम्बर: राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जिले के शिक्षण संस्थानों के तंबाकू मुक्त होने के अवसर पर कलेक्टर महोदय की अध्यक्षता में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान सभी 101 संस्थाओं को जिन्होंने तय समय पर तम्बाकू मुक्त संस्थान बनाने के लिये कार्य किया है उन्हें कलेक्टर महोदय द्वारा प्रमाण पत्र दिया गया साथ ही इस प्रयास को हमेशा बनाये रखने के लिये शुभकामनाएं भी दी गयी।

कलेक्टर धर्मेश साहू ने तम्बाकू मुक्त शैक्षणिक संस्थान बनाने हेतु जिले में किये जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा विभाग को बधाई दी। उन्होंने कहा, ” विद्यालयों में तम्बाकू व तम्बाकू से संबंधित उत्पादो की रोकथाम बहुत जरूरी है। इसके लिये सभी शैक्षणिक संस्थानों द्वारा हर 2-3 महीनों में अनिवार्य रूप से जागरूकता कार्यक्रम करवाना चाहिए जिसमें बच्चे चित्रकला, भाषण प्रतियोगिता में भाग लेकर नशे से होने वाले दुष्प्रभाव के प्रति सचेत रहें। साथ ही विद्यालय प्रबंधन तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान के नियमों का पालन सतत रूप से करते रहे। अगर कोई शिक्षण संस्थान में तंबाकू या उनसे बने उत्पादों का प्रयोग करते हैं तो जिम्मेदार लोगों पर उचित कार्यवाही की जाए।”

एनटीसीपी जिला नोडल अधिकारी डॉ प्रशांत गिरी ने बताया, “नशे से होने वाले दुष्प्रभावों व उनसे बचाव के लिये जिले के 171 शैक्षणिक संस्थानों को तम्बाकू मुक्त बनाने हेतु बीते दिनों जिले में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमें सभी शिक्षकों को शपथ दिलाकर अपने विद्यालयों को तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान बनाने हेतु प्रेरित किया गया था। इसी कड़ी में आज स्कूल परिसर के 100 मीटर के दायरे में तम्बाकू व तम्बाकू उत्पाद के रोकथाम के लिये बेहतर कार्य करने वाले शैक्षिक संस्थाओं को सम्मान देने हेतु कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें 96 विद्यालय एवं 5 महाविद्यालय के प्रचार्य व नोडल सम्मिलित थे। उन्होंने बताया, जिले के समस्त शैक्षणिक संस्थानों में एनटीसीपी टीम नारायणपुर द्वारा लगातार निरीक्षण कर ऐसे संस्थाओं को चिन्हित किया गया, जिन्होंने सभी 9 इंडिकेटर्स को अपनाते हुए बेहतर कार्य किया। वर्तमान में कुछ छूटे हुए विद्यालय अभी भी इस दिशा में कार्य कर रहे हैं। हमारा प्रयास है कि 26 जनवरी से पूर्व बचे हुए विद्यालयों को तम्बाकू मुक्त कर शत-प्रतिशत तम्बाकू मुक्त शैक्षणिक संस्थान जिला बनाया जाए।”

कार्यक्रम में सोशल वर्कर नेहा गिरी द्वारा तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान में बनाए जाने हेतु नियम एवं शर्तें की जानकारी दी गई एवं तंबाकू सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में भी बताया गया । इसके अतिरिक्त हॉस्पिटल में संचालित नशा मुक्ति केंद्र की भी जानकारी दी गई।

उक्त कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ पोषण चंद्राकर ,सीएमएचओ नारायणपुर डॉक्टर बी.आर. पुजारी, डीईओ नारायणपुर जी.आर.मंडावी, बी.ई.ओ. नारायणपुर मंजू श्री शेरपा और एनटीसीपी टीम नारायणपुर उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.