12 वी की छात्रा श्रुति चौधरी ने ’’पढ़ई तुंहर दुआर’’ की वेबसाइट पर छत्तीसगढ़ के नायक के रूप में बनाई अपनी पहचान

जगदलपुर 27 जुलाई 2020/ छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले का नाम अपनी आसाधारण प्राकृतिक सौंदर्यता के लिए जाना जाता है। यहां की नैसर्गिक खूबसूरती और यहां के जल, जंगलों और जमीन को ऐसी आभा देती है। कि एक बार इसके रूबरू होने के बाद इंसान खुद से भी इसके करीब पहुंच जाता है।
इसी जिले के शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला क्रमांक-02 जगदलपुर की कक्षा बारहवीं की छात्रा कुमारी चौधरी ने पढ़ई तुंहर दुआर की वेबसाइट पर छत्तीसगढ़ के हमारे नायक के रूप में अपनी पहचान बनाने में सफलता हासिल की है। बस्तर जिले की श्रुति चौधरी ने बताया श्रुति एक मध्यमवर्गीय परिवार की सदस्य है। इनके पिता एक ऑटो चालक है और माता गृहणी है। श्रुति कला संकाय की छात्रा है इन्हें राजनीति विज्ञान और इतिहास के साथ-साथ अंग्रेजी विषय पढ़ना बहुत अच्छा लगता है। राज्य के ब्लाॅग लेखक गौतम शर्मा से वे अपनी पढ़ाई को लेकर बहुत परेशान थी। इसी दौरान एक दिन विद्यालय की प्राचार्य श्रीमती सुधा परमार ने इन्हें फोन करके बताया कि छत्तीसगढ़ शासन ने आप लोगों की घर पर ही सुरक्षित रहकर पढ़ाई जारी रखने के लिए ’पढ़ई तुंहर दुआर’ जैसी महती योजना शुरू किया है। जो आपकी पढ़ाई के लिए काफी उपयोगी है।

इस प्रकार श्रुति ऑनलाइन पढ़ाई से जुड़ सकी। विद्यालय के शिक्षकों द्वारा ’’सिस्कों वेबैक्स ऐप’’ के माध्यम से ऑनलाइन क्लास में जुड़ने का तरीका सीख, श्रुति प्रतिदिन अपने पिता के मोबाइल से स्कूल शिक्षा विभाग की वेबसाइट के माध्यम से अपनी पढ़ाई निरन्तर जारी रखी हुई है। श्रुति प्रतिदिन ’पढ़ई तुंहर दुआर’ की वेबसाइट पर उपलब्ध अपने कक्षानुरूप कोर्स मटेरियल को भी देखती है और उससे नोट्स तैयार कर रही है। इन्हें इस वेबसाइट से पढ़ना बहुत अच्छा लग रहा है। श्रुति नियमित रूप से सभी विषय पढ़ रही है। ये  menti.com  से प्रसारित प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम में भी हमेशा सहभागिता निभाती है। विद्यालय की प्राचार्या श्रीमती सुधा परमान ने बताया कि कुमारी श्रुति चौधरी शुरूआत से ही एक मेधावी छात्रा है, इसके साथ ही खेलों में भी इनकी रूचि है। इन्होंने ना सिर्फ जिला बल्कि राज्य स्तर पर पदक जीतकर विद्यालय का नाम रोशन किया है।
श्रुति ने ’’पढ़ई तुंहर दुआर’’ जैसे महती योजना शुरू करने के लिए छत्तीसगढ़ शासन और स्कूल शिक्षा विभाग की पूरी टीम का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस योजना को विद्यालय खुलने के बाद भी जारी रखा जाना चाहिए।

प्राचार्या श्रीमती सुधा परमार ने बताया धीरे धीरे अब बच्चे इस बात को समझ रहे हैं कि भविष्य में ऑनलाइन पढ़ाई ही उन्हें करनी पड़ेगी। इसमें जिला शिक्षा अधिकारी श्री राजेन्द्र झा एवं पढ़ाई तुँहर दुआर के बस्तर नोडल अधिकारी गणेश तिवारी ने बधाई दी एवं सभी बच्चों को इसी तरह ऑनलाइन पढ़ाई करने कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *