Wednesday, December 7

Day: July 13, 2022

छत्तीसगढ़ में रासायनिक उर्वरकों की कमी को पूरा करने के लिए केन्द्र सरकार को लिखा जाएगा पत्र
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

छत्तीसगढ़ में रासायनिक उर्वरकों की कमी को पूरा करने के लिए केन्द्र सरकार को लिखा जाएगा पत्र

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश में केन्द्र से रासायनिक उर्वरकों की कम आपूर्ति को देखते हुए कृषि उत्पादन आयुक्त को केन्द्र से समन्वय कर मांग के अनुरूप रासायनिक उर्वरकों की आपूर्ति के लिए पत्र लिखने को कहा है. उन्होंने अधिकारियों को मौसम की स्थिति पर नजर रखने और जहां खाद, बीज की कमी है, वहां खाद-बीज की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने आज यहां मुख्यमंत्री निवास में आयोजित बैठक में प्रदेश में वर्षा की स्थिति, खाद-बीज की उपलब्धता, सिंचाई जलाशयों में जल भराव की स्थिति, खरीफ फसलों के क्षेत्राच्छादन, संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के उपायों की समीक्षा की. बैठक में कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे भी उपस्थित थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट के उत्पादन के मामले में छत्तीसगढ़ अन्य राज्यों से काफी आगे हैं. रासायनिक उर्वरकों की कमी की पूर्ति काफी ह...
सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को भी मिलेगा निजी स्कूलों की तरह होलिस्टिक रिपोर्ट कार्ड
छत्तीसगढ़ प्रदेश

सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को भी मिलेगा निजी स्कूलों की तरह होलिस्टिक रिपोर्ट कार्ड

रायपुर. प्रदेश में संचालित सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत् कक्षा पहली से 12वीं तक के विद्यार्थियों को अब निजी स्कूलों की तरह बहुआयामी प्रगति पत्रक (होलिस्टिक रिपोर्ट कार्ड) दिया जाएगा. स्कूल शिक्षा सचिव डॉ. एस. भारतीदासन ने इस संबंध में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है. बहुआयामी प्रगति पत्रक में सभी विषयों में मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक, वार्षिक आंकलन में प्रोजेक्ट, प्रायोजना कार्यों के अंकों को जोड़कर ग्रेड दिया जाएगा. कक्षा में स्थान ग्रेड के आधार पर दिया जाएगा. संज्ञानात्मक क्षेत्र के लिए प्राप्तांकों का प्रतिशत 91 से 100 तक होने पर ग्रेड-ए प्लस, 81 से 90 प्रतिशत तक ग्रेड-ए, 71 से 80 प्रतिशत तक ग्रेड-बी प्लस, 61 से 70 प्रतिशत तक ग्रेड-बी, 51 से 60 प्रतिशत तक ग्रेड-सी प्लस, 41 से 50 प्रतिशत तक ग्रेड-सी, 33 से 40 प्रतिशत तक ग्रेड-डी और 33 प्रतिशत से नीचे ग्रेड-ई दिया जाएगा....
लकड़बग्घों के झुंड ने गांव पर हमला करके 13 बकरियों को मार डाला
छत्तीसगढ़ प्रदेश

लकड़बग्घों के झुंड ने गांव पर हमला करके 13 बकरियों को मार डाला

दुर्ग. छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में लकड़बग्घों के झुंड ने हमला करके 13 बकरियों को मार डाला जबकि आठ बकरियां घायल हो गई. वन विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि जिले के धमधा विकासखंड अंतर्गत रौंदा गांव में सोमवार-मंगलवार रात लकड़बग्घों के हमले में 13 बकरियों की मौत हो गई है तथा आठ बकरियां घायल हो गई. उन्होंने बताया कि ग्रामीण सावत निषाद को नियम के तहत मुआवजा दिया जाएगा और गांव में ऐसी घटनाओं से बचने के लिए मुनादी कराई जा रही है. उन्होंने बताया कि रौंदा गांव में सोमवार-मंगलवार रात लगभग तीन बजे लकड़बग्घों के झुंड ने गांव के निवासी सावत निषाद की बाड़ी में हमला किया. उन्होंने बताया कि वहां 21 बकरियां बंधी हुई थी और लकड़बग्घों ने 13 बकरियों को मार डाला. उन्होंने बताया कि बाद में ग्रामीणों ने लकड़बग्घों को वहां से भगाया. अधिकारियों ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही वन व...
मुख्यमंत्री ने किसान भाइयों से अपनी फसलों का बीमा कराने की अपील की
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

मुख्यमंत्री ने किसान भाइयों से अपनी फसलों का बीमा कराने की अपील की

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी किसान भाइयों से अपनी खरीफ और उद्यानिकी फसलों का बीमा का बीमा कराने की अपील की है. मुख्यमंत्री ने किसान भाइयों के नाम जारी अपनी अपील में कहा है, कि मौसम की अनिश्चितता और स्थानीय प्राकृतिक आपदा की स्थिति में भी किसानों की आय बनी रहे, इसलिए फसलों को बीमित कराना जरूरी है. शासन द्वारा किसान भाइयों को फसल बीमा की सुविधा प्रीमियम राशि पर उपलब्ध कराई जा रही है. खरीफ फसलों के बीमा के लिए किसान भाइयों को प्रीमियम राशि का 2 प्रतिशत और उद्यानिकी फसलों के बीमा के लिए प्रीमियम राशि का त्र 5 प्रतिशत अंशदान के रूप में देना होता है . किसान भाई थोड़ी सी रूचि और थोड़ी सी राशि जमा कर अपनी फसलों का बीमा कराकर बड़े जोखिम से बच सकते हैं. प्राकृतिक आपदा एवं मौसम की अनिश्चितता के चलते होने वाली फसल हानि,उत्पादन में कमी की भरपाई मिलने बीमा दावा राशि से हो जाती है. प्रधा...
विज्ञान केवल प्रकृति की खोज नहीं, सत्य की सर्वोच्च सत्ता स्वीकार करने का तंत्र
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

विज्ञान केवल प्रकृति की खोज नहीं, सत्य की सर्वोच्च सत्ता स्वीकार करने का तंत्र

रायपुर. आज के दौर में सूचनाओं का प्रवाह तेजी से हो रहा है. ऐसे में केवल सैद्धांतिक रूप से जानकारी हासिल करने से काम नहीं चलेगा. हमें अधिकाधिक प्रयोगों को खुद करके देखना होगा भले ही इसमें कई बार असफलता क्यों न मिले. उक्त बातें छत्तीसगढ़ रीजनल साइंस सेंटर में आज छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी परिषद के पूर्व महानिदेशक प्रो. एम एम हम्बर्डे ने कही. छत्तीसगढ़ रीजनल साइंस सेंटर में आज से 10 दिवसीय रोबोटिक्स वर्कशॉप की शुरूआत की गई है जिसका थीम है हैंड्स आन एक्टिविटी. इस वर्कशॉप में रायपुर के शासकीय स्कूलों में विज्ञान संकाय के 50 छात्रों को शामिल किया गया है जो 10 दिनों तक रोबोटिक्स की बारीकियों और भविष्य मे इसकी आवश्यकता और उपयोगिता के बारे मे जानेंगे. छत्तीसगढ़ रीजनल साइंस सेंटर की स्थापना नवीन खोजों एवं प्रायोगिक क्रियाकलापों को स्वयं करने, सीखने की प्रक्रिया को प्रोत्साहित करने, नवीनतम ...
मुख्यमंत्री बघेल ने प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

मुख्यमंत्री बघेल ने प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ( chief minister भूपेश बघेल) आज प्रदेशवासियों को गुरू पूर्णिमा( guru purnima) की बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।मुख्यमंत्री ने आज यहां गुरू पूर्णिमा की पूर्व संध्या पर जारी अपने संदेश में कहा है कि भारतीय संस्कृति में गुरू को सर्वाेच्च स्थान दिया गया है। महाभारत ( mahabharat) वेदों के रचयिता महर्षि वेद व्यास के अवतरण दिवस आषाढ़ पूर्णिमा के दिन भारत में गुरू पूर्णिमा( guru purnima) मनाने की परम्परा रही है। इस दिन गुरूओं के अमूल्य ज्ञान और मार्गदर्शन के प्रति सम्मान और आभार प्रकट किया जाता है। गुरू( guru ) जीवन में अज्ञानता के अंधकार को मिटाकर ज्ञान की रोशनी लेकर आते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरूओं द्वारा दी गई अमूल्य शिक्षा को जीवन( life) में उतारकर हमें आगे बढ़ना चाहिए।...
रायपुर: महिला मित्र की हत्या के बाद युवक ने की आत्महत्या
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

रायपुर: महिला मित्र की हत्या के बाद युवक ने की आत्महत्या

रायपुर: छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले में 28 वर्षीय एक व्यक्ति ने कथित तौर पर अपनी महिला मित्र की हत्या के बाद आत्महत्या कर ली। पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शहर के पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र के अंतर्गत बांधवापारा इलाके में बीती रात कमलेश कुमार साहू (28) ने अपनी महिला मित्र अर्चना साहू (28) की कथित तौर पर हत्या कर दी और फिर आत्महत्या कर ली। उन्होंने बताया कि कमलेश और अर्चना दुर्ग जिले के एक ही गांव के निवासी थे। अर्चना रायपुर में आपातकालीन सेवा 112 में कार्यरत थी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि बीती रात कमलेश अर्चना के घर पहुंचा तथा उसकी हत्या कर दी, बाद में कमलेश ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उन्होंने बताया कि पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रारंभिक जांच में जानकारी मिली...