Monday, November 28

Day: September 1, 2022

RSS संगठनों की छत्तीसगढ़ में 10-12 सितंबर तक होगी समन्वय बैठक : भागवत, नड्डा लेंगे हिस्सा
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

RSS संगठनों की छत्तीसगढ़ में 10-12 सितंबर तक होगी समन्वय बैठक : भागवत, नड्डा लेंगे हिस्सा

नयी दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े विभिन्न संगठनों की समन्वय बैठक 10-12 सितंबर तक छत्तीसगढ़ के रायपुर में होगी . इस बैठक में सरसंघचालक मोहन भागवत, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा, भाजपा के संगठन महामंत्री बी एल संतोष आदि हिस्सा लेंगे. समन्वय बैठक में संघ से जुड़े 36 संगठनों के प्रतिनिधि, सामाजिक एवं राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों सहित वैचारिक क्षेत्र, आर्थिक जगत, सेवा कार्यों आदि के बारे में गहन चर्चा करेंगे. आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने एक बयान में यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि अखिल भारतीय स्तर की इस वार्षिक बैठक में पर्यावरण, परिवार प्रबोधन एवं सामाजिक समरसता जैसे विषयों पर समन्वित प्रयासों के बारे में चर्चा की जायेगी . उन्होंने बताया कि इस बैठक में सरसंघचालक मोहन भागवत, सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले सहित पांच सह सरकार्यवाह एवं प्रमुख पदाधिकारी हि...
छत्तीसगढ़ कम बेरोजगार वाले राज्यों में निरन्तर बना सिरमोर
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

छत्तीसगढ़ कम बेरोजगार वाले राज्यों में निरन्तर बना सिरमोर

रायपुर. छत्तीसगढ़ पिछले कई महीनों से सबसे कम बेरोजगारी दर वाले राज्यों में उच्च स्थान पर बना हुआ है. छत्तीसगढ़ में साढ़े तीन साल में शहरी-ग्रामीण अर्थव्यवस्था को संतुलित करने तथा रोजगार के नये अवसरों का सृजन करने वाली योजनाओं का असर है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में हो रहे कार्यों के परिणाम स्वरूप सबसे कम बेरोजगारी दर वाले राज्य का गौरव हासिल कर रहा है. अगस्त 2022 में छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर 0.4 प्रतिशत है. जबकि देश में बेरोजगारी दर 8.3 प्रतिशत है. जुलाई महीने में छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर 0.8 प्रतिशत रही. मई महीने में 0.7 प्रतिशत तथा मार्च-अप्रैल महीने में छत्तीसगढ़ मेें बेरोजगारी दर सबसे कम 0.6 प्रतिशत रही. सीएमआईई द्वारा जारी किए गए नये आंकड़ों के अनुसार अगस्त में बेरोजगारी दर बिहार में 12.8 प्रतिशत, गोवा में 13.7 प्रतिशत, गुजरात में 2.6 प्रतिशत, हरियाणा में 37.3 प्रतिशत, हिमाचल प्र...
मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी को 2 सितंबर से मिलेगी नई पहचान
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी को 2 सितंबर से मिलेगी नई पहचान

रायपुर. मोहला-मानपुर- अंबागढ़ चौकी जिला राजनांदगांव जिले से अलग होकर एक नये प्रशासनिक इकाई के रूप में पहचान बनाने जा रहा है. मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा इस क्षेत्र को जिला बनाने की ऐतिहासिक घोषणा के बाद मोहला-मानपुर- अंबागढ़ चौकी के सुदूर वनांचल क्षेत्रों तक हर्ष व्याप्त है. यह क्षेत्र लंबे समय तक नक्सल गतिविधियों से प्रभावित रहा है. नया जिला बन जाने से शासन-प्रशासन इन क्षेत्रों में और निकट तक पहुंचेगा और विकास कार्यों की गति बढ़ेगी. शासन के प्रयासों से इन क्षेत्रों में विकास कार्यों को प्राथमिकता देते हुए स्वास्थ्य, शिक्षा, खाद्यान्न, रोड कनेक्टिविटी के लिए विशेष कार्य किए जा रहे हैं. नया जिला बन जाने से इन क्षेत्रों की तस्वीर बदलेगी. यह क्षेत्र प्राकृतिक वन संपदा से परिपूर्ण है. यहां के सघन वनों में लघुवनोपज प्रचुर मात्रा में है. मोहला-मानपुर क्षेत्र जनजातीय बाहुल्य क्षेत्र है. मो...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायगढ़ जिले के नवापारा में की घोषणाएं
छत्तीसगढ़ प्रदेश

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायगढ़ जिले के नवापारा में की घोषणाएं

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज रायगढ़ जिले के नवापारा में भेंट-मुलाकात कार्यक्रम की शुरूआत मुनीचुआँ आश्रम में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों के लिए सुख-समृद्धि की कामना की। मुख्यमंत्री ने आश्रम परिसर में बरगद का पौधा लगाकर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया और ग्रामीणों को अधिक से अधिक पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित किया। मुख्यमंत्री को ग्रामीणों ने काशी फूल की टोपी पहनाकर सम्मानित किया। ...
रायपुर : मुख्यमंत्री ने लोइंग निवासी बहादुर सिदार के घर षडरस सब्जी के साथ लिया भोजन का स्वाद
छत्तीसगढ़ प्रदेश

रायपुर : मुख्यमंत्री ने लोइंग निवासी बहादुर सिदार के घर षडरस सब्जी के साथ लिया भोजन का स्वाद

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेशव्यापी भेंट मुलाकात अभियान के तहत आज दोपहर रायगढ़ विधानसभा के ग्राम लोइंग पहुंचे। उन्होंने यहाँ भगवान जगन्नाथ स्वामी मंदिर में पूजा-अर्चनाकर प्रदेशवासियों की खुशहाली की कामना की। मुख्यमंत्री बघेल ने मंदिर दर्शन के उपरांत कृषक बहादुर सिदार के आमंत्रण पर उनके घर में सादगी के साथ जमीन पर बैठकर भोजन ग्रहण किया। मुख्यमंत्री बघेल का सिदार के परिजनों ने घर के मुख्यद्वार पर श्रीफल भेंट कर आत्मीय स्वागत किया। उन्हें भोजन में चावल, दाल सहित षडरस से युक्त 6 विभिन्न प्रकार की सब्जियों के साथ छौका लगा डुबकी भी परोसा गया। इन सब्जियों में लेथा खटाई, मटर पनीर, बड़ी टमाटर, भिंडी, मिक्स वेज और मखाना भाजी की सब्जी भी शामिल थीं। उल्लेखनीय है कि क्षेत्र के कोलता समाज का लेथा खटाई एक खास व्यंजन है इसे समाज के हर विशिष्ट पर्व आदि कार्यक्रमों में जरुर शामिल किया जाता है। इस अवसर पर...