3.83 लाख हितग्राहियों ने लगवाया जिंदगी का टीका, 80 फीसदी टारगेट पूरा


दुर्ग, 22अप्रैल 2021। कोरोना महामारी की रफ़तार पर अंकुश लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण तेज कर दिया है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच जिले के 3.83  लाख  से अधिक हितग्राहियों ने  टीके लगवा लिए हैं।
लाकडाउन के मौजूदा दौर में भी टीकाकरण अभियान जारी है। जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के 254 टीकाकरण केंद्रों में कोरोना का टीका लगाने का कार्य लगातार किया जा रहा है।इनमें शासकीय 226 एवं निजी चिकित्सालय में 18 टीकाकरण केंद्र में आज 2283 हितग्राहियों ने महामारी को हराने के लिए टीके लगवाएं हैं जबकि दुर्ग जिले की कुल जनसंख्या 18.28 लाख में से 45 व 60 से अधिक आयु वर्ग के 3.65 लाख लोगों को टीकाकरण लगाया जाना लक्ष्य है जिसमें से आज तक 2.95 लाख यानी 80.70 प्रतिशत हितग्राहियों ने टीका लगवाया है।
सीएमएचओ डॉ. गम्भीर सिंह ठाकुर ने लोगों से अपील की है कि सभी पात्र नागरिक अवश्य टीका लगवाएं। जनवरी 16  से प्रारंभ टीकाकरण अभियान में जिले के अब तक 3.83 लाख से अधिक  लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इनमें 3.36 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन का पहला डोज और 46000 लोगों को दूसरा डोज लगाया गया है।
डॉ ठाकुर ने कहा, इन दिनों शादियों का सीजन ऐसे में लोगों को कोविड-19 के नियमों के साथ सोशल डिस्टेंस का पालन करने और भीड़-भाड़ वाले स्थानों मे न जायें, दो गज की दूरी मास्क है जरुरी नियम का पालन करें। समय-समय पर साबून से हाथ धोते रहें, सनेटाईसर का उपयोग करें ताकि कोरोना का संक्रमण एवं फैलाव को रोका जा सके। “कोरोना से बचने के लिए हमें और अधिक एहतियात बरतने की जरुरत है। लोग यह न समझें कि कोरोना टीका लगने के बाद हम सुरक्षित हैं बल्कि टीका के बाद हमें और अधिक सावधानी बरतने की जरुरतहै।‘’

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ सुदामा चंद्राकर ने बताया, जिले में 1 अप्रैल से  विकासखंड निकुम में 41, पाटन में 45, धमधा में 56, नगर निगम भिलाई में 39, नगर निगम दुर्ग में 28, नगर निगम चरोदा में 8,  नगर निगम रिसाली में 8व निजी संस्थाओं में 19 सहित कुल 254 टीकाकरण केंद्रों में 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा रही है। शासकीय चिकित्सालयों में यह वैक्सीन निशुल्क लगाया जा रहा है। निजी चिकित्सालयों में टीका लगाने का मूल्य 250 रुपये निर्धारित किया गया है। जिला चिकित्सालय, आयुर्वेद कालेज हास्पिटल, शहरी क्षेत्र के विभिन्न् प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, विकासखंडों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ-साथ विभिन्न् प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, उप स्वास्थ्य केंद्रों, अन्य टीकाकरण केंद्रों और विभिन्न् निजी चिकित्सालयों में भी टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध है। वर्तमान में शासकीय अवकाश के दिनों में भी टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। लाकडाउन अवधि में भी अपना परिचय पत्र और टीकाकरण का दस्तावेज दिखाकर 45 साल से अधिक अधिक उम्र के लोग टीके लगवा सकते हैं।
लॉक डाउन से कोरोना संक्रमण दर में आयी गिरावट-
जिले मे लॉकडाउन के दौरान कोरोना की चेन तोड़ने में सफलता हासिल करने प्रतिदिन 5500 से अधिक लोगों का सेम्पल जांचने के निर्देश सभी लैब प्रभारियों को दी गई है ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों को बचाया जाए। लोगों को किसी भी तरह की तकलीफ होने पर कोरोना की जांच जरुर कराएं ताकि अपने और परिवार की सुरक्षा हो सके। बुधवार को 5736 मरीजों का सेंपल लिए गए जिसमें 1680 मरीजों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। इसमें संक्रमण की दर 29 फीसदी दर्ज की गई है। उल्लेखनीय है कि संक्रमण की दर 10 अप्रैल को 56 फीसदी तक पहुंच गई थी। लॉक डाउन लगने के बाद हर दिन लगभग 4000 सेम्पल लिए जा रहे थे उसे बढाकर साढे पांच हजार कर दिए गए हैं। पॉजिटिव मरीजों की संख्या में गिरावट इस बात का संकेत है कि जिले में लॉकडाउन का असर संक्रमण रोकने में कारगर साबित हो रहा है। लॉकडाउन की वजह से कोरोना संक्रमण धीरे-धीरे घट रहा है। जिले में 21 अप्रैल की स्थति में 12400 पॉजिटिव केस हैं जबकि 58889 लोग स्वस्थ्य होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। अब तक कुल 72428 लोग कोरोना संक्रमित हुए और 1139 लोगों की मौत हो गई है।
होम आईसोलेशन के मरीजों भी करा सकेंगे एक्सरे जांच-
सीएमएचओ डॉ ठाकुर ने बताया, कोविड-19 के लक्षण रहित एवं कम लक्षण वाले मरीजों को होम  आईसोलेशन की अनुमति प्रदान की गई है। होम आईसोलेशन में रहने के दौरान कई मरीजों को उनके चिकित्सक की सलाह अनुसार अतिरिक्त जांच एक्सरे व अन्य जांच कराने की आवश्यकता को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने आज आदेश जारी किए हैं। होम आईसोलेशन के मरीजों को अपने चिकित्सक के लिखित पर्चा को वाट्सअप व सीधे किसी के माध्यम से प्राप्त करना होगा। जांच कराने के लिए पर्चे के आधार पर कंट्रोल रुम से अनुमति प्राप्त करनी होगी। अनुमति लेकर मरीज स्वयं के वाहन से जांच केंद्र में जाकर कोविड-19 के अनुसार व्यवहार करते हुए जांच करा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *