Thursday, July 18

जनहित के कार्यों तथा शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही होने पर की जाएगी कार्रवाई – कलेक्टर

कोई भी अधिकारी बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर नहीं जाएंगे
– विधानसभा के प्रश्नों का उत्तर समय पर देने के निर्देश दिए
– पौधरोपण एवं जल संरक्षण की दिशा में उद्योग अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करेंगे
– मवेशियों के कारण सड़क दुर्घटना की स्थिति नहीं होनी चाहिए
– बीपीओ कॉल सेंटर का विस्तार करने के लिए कहा
– मत्स्य विभाग द्वारा बंद पड़ी खदानों में किए जा रहे मत्स्य पालन की प्रशंसा की
– साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक आयोजित
राजनांदगांव 09 जुलाई 2024। कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने कहा कि कोई भी अधिकारी बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि कार्य के प्रति लापरवाही एवं अनुशासनहीनता की स्थिति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर जाने वाले अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। मुख्यालय में नहीं रहने के कारण कानून व्यवस्था एवं अन्य दिक्कत होने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनहित के कार्यों तथा शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही होने पर कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने डीजे के माध्यम से ध्वनि प्रदूषण होने पर कड़ी कार्रवाई करने तथा अर्थदण्ड लगाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर के प्रकरणों का निराकरण यथाशीघ्र करने कहा। उन्होंने विधानसभा के प्रश्नों का उत्तर समय पर देने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि पौधरोपण एवं जल संरक्षण की दिशा में उद्योग अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करेंगे। इसके लिए सीएसआर मद का उपयोग कर सकते हैं। उन्होंने रेलवे के तहत डोंगरगढ़ एवं डोंगरगांव में भू-अर्जन के प्रकरणों का प्राथमिकता से निराकरण करने के लिए कहा। जिले में जल संरक्षण के लिए चलाए जा रहे मिशन जल रक्षा अंतर्गत नारी शक्ति से जल शक्ति के कार्य में गति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हर ग्राम में जल स्वच्छता एवं फसल संगोष्ठी का कार्य जारी रहे तथा किसानों को फसल विविधीकरण के लिए प्रोत्साहित करें। स्कूल एवं आंगनबाड़ी तथा अस्पताल में भवन के मरम्मत का कार्य गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। उक्त बातें कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में कही।
कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने कहा कि सड़कों से आवारा मवेशियों को हटाने के कार्य में गति लाएं। ऐसे स्थान जहां मवेशी बैठते हंै, उन स्थानों का चिन्हांकन करते हुए हटाने की कार्रवाई करें। मवेशियों के कारण सड़क दुर्घटना की स्थिति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने नगर निगम आयुक्त से कहा कि ग्राम पंचायतों के साथ समन्वय करते हुए मवेशियों को रखने के लिए एक निश्चित स्थान तथा आवश्यक व्यवस्था बनाएं। उन्होंने कहा कि अमृतकाल : छत्तीसगढ़ विजन ञ्च 2047 अंतर्गत शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, अधोसंरचना सहित विभिन्न क्षेत्रों में जिले को अग्रणी बनाने के लिए कार्य करने की जरूरत है। कलेक्टर ने बीपीओ कॉल सेंटर का विस्तार करने के लिए कहा। इसी तरह उन्होंने प्लग टाईप सीडलिंग यूनिट, पंप हाऊस एवं कृषि लैब के निर्माण के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने मत्स्य विभाग द्वारा बंद पड़ी खदानों में किए जा रहे मत्स्य पालन की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मत्स्य पालन के माध्यम से 300 परिवारों को रोजगार मिला है, यह एक अच्छा कार्य है। श्रीरामलला दर्शन योजना अंतर्गत पात्र हितग्राहियों की सूची तैयार करने तथा सहमति प्रदान करने कहा। तीर्थयात्रा पर जाने वाले यात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के लिए कहा। क्रेडा अंतर्गत अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम एवं हॉस्पिटल में लगाए जा रहे सोलर पैनल के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने पोट्ठ लईका अभियान, आंगनबाड़ी केन्द्रों में गैस कनेक्शन, जैव विविधता पार्क, स्कूलों में पाठ्यपुस्तक व गणवेश वितरण सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।  इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री सीएल मारकण्डेय, अपर कलेक्टर श्रीमती इंदिरा नवीन प्रताप सिंह तोमर, नगर निगम आयुक्त श्री अभिषेक गुप्ता, संयुक्त कलेक्टर श्री खेमलाल वर्मा, एसडीएम राजनांदगांव श्री अतुल विश्वकर्मा, एसडीएम डोंगरगांव श्री मनोज मरकाम, एसडीएम डोंगरगढ़ श्री उमेश पटेल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *