IMNB की खबर पर संज्ञान लेकर प्रशासन ने की कार्रवाई 14 वें वित्त की राशि से 5 प्रतिशत संघ के लिए मांगने वाले की गई सरपंची

किशोर कर ब्यूरोचीफ महासमूंद

धारा 40 के तहत किया गया पद से पृथक

महासमुंद – महासमुंद जिले के सरायपाली जनपद क्षेत्र में कथित सरपंच संघ अध्यक्ष द्वारा जारी एक कथित व्हाट्सएप मैसेज को लेकर मची खलबली पर आज उस वक्त विराम लग गया जब सरायपाली एसडीएम ने छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम की धारा 40 के तहत कार्रवाई करते हुए बटकी के सरपंच को पद से पृथक कर दिया। दरअसल सरायपाली सरपंच संघ के तथाकथित अध्यक्ष के वाट्सएप नम्बर पर एक मैसेज में सरपंचों को सूचित करते हुए लिखा गया था कि सभी सरपंच 14 वें वित्त से मिलने वाली राशि से 5% राशि सरपंच संघ में जमा करने को कहा गया था इस मैसेज के वायरल होने के बाद सरायपाली ब्लॉक के सरपंचों में और राजनीति में भी खलबली मच गई थी । इधर व्हाट्सएप में वायरल इस मैसेज के आधार पर सरायपाली जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा सरपंच संघ अध्यक्ष हिरेंद्र कुमार पटेल को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा था। नोटिस मे किऐ गए उल्लेख के अनुसार जवाब संतोष प्रद नहीं होने की स्थिति में पंचायती राज अधिनियम 1993 की धारा 40 के तहत कार्रवाई भी की जा सकती है ऐसा उल्लेख किया गया था। हम आपको बताते चलें कि महासमुन्द जिले के सरायपाली जनपद क्षेत्र में शासकीय विकास कार्यों की राशि से निश्चित प्रतिशत में रकम वसूलने की चर्चा लंबे समय से चल रही थी लेकिन कथित तौर पर मैसेज के वायरल होने के बाद इलाके में चल रही चर्चा पर भी अब बल मिल गया था। सरायपाली जनपद क्षेत्र इलाके में खलबली मचाने वाले वायरल मैसेज को लेकर सरपंच पद से पृथक किऐ गए हिरेंद्र कुमार पटेल के दूरभाष पर संपर्क की कोशिश की गई लेकिन उनसे सम्पर्क नहीं हो पाया। हम आपको बता दें कि सबसे पहले हमारे द्वारा इस खबर को प्रकाशित किया गया था जिसके बाद हमारी खबर पर प्रशासन ने संज्ञान लेते हुए तत्काल इस पर जांच के आदेश दिए थे और जांच उपरांत आज कार्यवाही की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *