Sunday, July 21

प्रदेश में आदर्श जिले के रूप में कोरबा को पहचान दिलाने सभी अधिकारी निभाएं अपनी भूमिका: प्रभारी मंत्री अरूण साव

योजनाओं से आमजनों को लाभांवित कर विकसित कोरबा का सपना करें साकार
उपमुख्यमंत्री श्री साव की अध्यक्षता में विभागीय कार्याे की समीक्षा बैठक हुई संपन्न

कोरबा 21 जून 2024/ छत्तीसगढ़ शासन के उपमुख्यमंत्री, लोक निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, विधि व विधायी कार्य, तथा नगरीय प्रशासन मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री अरुण साव की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में विकास कार्याे की समीक्षा बैठक आयोजित हुई। उन्होंने कोरबा को प्रदेश में आदर्श जिले के रूप में पहचान दिलाने हेतु सभी अधिकारियों को अपने कर्तव्यों का जिम्मेदारी पूर्वक निर्वहन करने एवं शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आम नागरिकों तक प्राथमिकता से पहुँचाने के निर्देश दिए। उपमुख्यमंत्री श्री साव ने कहा कि प्रदेश की ऊर्जाधानी कोरबा में संसाधनों की कोई कमी नही है, बहुमूल्य खनिज पदार्थ प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। यहां हर क्षेत्र में कार्य करने की संभावनाएं असीम है। इस हेतु सभी अधिकारी-कर्मचारी नई ऊर्जा व सोच के साथ जिले के विकास कार्यों को गति देने के लिए के लिए काम करें।
समीक्षा बैठक में विधायक कटघोरा श्री प्रेमचंद पटेल, विधायक पाली-तानाखार श्री तुलेश्वर सिंह मरकाम, विधायक रामपुर श्री फूलसिंह राठिया, महापौर श्री राजकिशोर प्रसाद, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शिवकला छत्रपाल सिंह कंवर, कलेक्टर श्री अजीत वसंत, पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ तिवारी, डीएफओ श्री अरविंद पीएम, श्री कुमार निशांत, सीईओ जिला पंचायत श्री संबित मिश्रा, नगर निगम आयुक्त श्रीमती प्रतिष्ठा ममगाई सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।
उपमुख्यमंत्री श्री साव ने जिले में शाला प्रवेशोत्सव की तैयारी, खाद-बीज भण्डारण की स्थिति, मौसमी बीमारियों से बचाव की तैयारी, लोक निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, नगरीय प्रशासन विभाग, स्वास्थ्य विभाग, प्रधानमंत्री आवास, महिला बाल विकास सहित अन्य विभागों के विकास कार्यों की प्रगति की जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
उन्होंने विभागीय योजनाओं की बेहतर क्रियान्वयन हेतु सभी अधिकारियों को नियमित रूप से फील्ड विजिट करने के लिए कहा। अधिकारी के फील्ड में जाने से आपकी टीम कार्य करने के प्रति सचेत होती है। इसके साथ ही आपको योजनाओं के क्रियान्वयन की जमीनी हकीकत पता चलती है। फील्ड जाने पर कार्यों में गति आएगी और समस्याओं का समाधान शीघ्र होगा।
शिक्षा विभाग अंतर्गत शाला प्रवेश उत्सव की समीक्षा करते हुए समय रहते स्कूल भवनों की साफ-सफाई, नव प्रवेशित बच्चों की जानकारी सहित अन्य आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने की बात कही। उन्होंने कहा कि शिक्षा व्यवस्था सुदृढ़ कराना सरकार की प्रतिबद्धता है। साथ ही बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु विद्यालयों का उचित संचालन, शिक्षकों की नियमित उपस्थिति सुनिश्चित कराने निर्देश दिए। जिले में मानसून के दौरान मौसमी बीमारियों से बचाव हेतु स्वास्थ्य विभाग को प्रभावी उपाय अपनाने के लिए कहा। जिससे डेंगू, मलेरिया, पीलिया एवं जल जनित बीमारियों को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारी को सभी स्वास्थ्य केंदों की नियमित मॉनिटरिंग करने हेतु निर्देशित किया। इसी प्रकार खाद बीज भंडारण की स्थिति की जानकारी लेकर सभी समितियों से किसानों को मांग अनुसार उन्नत किस्म की खाद बीज उपलब्ध कराने के लिए कहा।
जल-जीवन मिशन के कार्य अंतर्गत हर घर शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराना, शहरी एवं ग्रामीण प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पिछड़े परिवारों के पक्के आवास के सपने को साकार करने में अपनी महती भूमिका निभाने की बात कही। नगरीय निकाय के अधिकारी स्वच्छता एवं पीएम आवास के क्षेत्र में बेहतर प्रगति हेतु व्यक्तिगत रूचि लेकर कार्य करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी इन योजनाओं के महत्व को गंभीरता से समझें एवं अधिक से अधिक लोगों को इन योजनाओं का लाभ पहुंचाएं। लोक निर्माण विभाग के तहत लंबे समय से लंबित निर्माण कार्याे की जानकारी लेकर कार्य को शीघ्रता से पूर्ण कराने के लिए कहा। श्री साव ने कहा कि सभी अधिकारी स्वयं आगे बढ़कर अपनी विभागीय योजनाओं से लोगों को लाभांवित करें। आप ऐसे सकारात्मक कार्य करें जिससे इन योजनाओं से आम लोगों के जीवन में परिवर्तन और खुशहाली आए एवं विकसित कोरबा का सपना साकार हो।
प्रभारी मंत्री श्री अरुण साव को जिले में किए जा रहे विकास कार्याे की जानकारी देते हुए कलेक्टर श्री अजीत वसंत ने बताया कि सरकार की सभी महत्वपूर्ण योजनाओं का आमजनों को लाभ पहुचाने हेतु जिला प्रशासन द्वारा सतत कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिले के एकल शिक्षकीय एवं शिक्षक विहीन शालाओं में नए शैक्षणिक सत्र से शिक्षकों की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। स्कूलों में रिक्त शिक्षकों के पदों पर अतिथि व्याख्याता व अतिथि शिक्षकों की भर्ती शीघ्र ही पूर्ण कर ली जाएगी। साथ ही जिले में निवासरत विशेष पिछड़ी जनजाति परिवार के शिक्षित बेरोजगारों को शिक्षा, स्वास्थ्य सहित अन्य विभागों में रिक्त पदों पर पीवीटीजी वर्ग के युवाओं की उनकी योग्यता अनुसार नियुक्ति दिए जाने की प्रक्रिया नए सत्र के प्रारंभ होने के साथ ही पूर्ण हो जाएगी। कलेक्टर ने बताया कि जिले में जिला खनिज संस्थान न्यास से 100 से अधिक भवन विहीन विद्यालय, आंगनबाड़ी केन्द्र एवं स्वास्थ्य केंद्रों में भवन निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई है। जिले में राजस्व प्रकरणों के निराकरण एवं अवैध कब्जों को हटाने हेतु भी प्रशासन द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है। सभी राजस्व अधिकारियों को नए अतिक्रमण पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाने एवं पूर्व के अतिक्रमण पर भी जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *