Tuesday, July 16

बलोदा बाजार हिंसा सरकार की विफलता को दर्शाता है, नैतिकता के नाते मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए

पुलिस द्वारा जबरदस्ती शांतिपूर्ण प्रदर्शन में शामिल होने जा रहे पूर्व विधायक एवं अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय को रोका गया
भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही छत्तीसगढ़ में कानून व्यवस्था पूरी तरीके से विफल = विकास उपाध्याय
विकास उपाध्याय ने कहा कि बलौदाबाजार में जैत खाम के अपमान व तोड़ फोड मामले में आवश्यक कार्यवाही होनी चहिए लेकिन कार्यवाही के नाम पर निर्दोष लोगो को फसाने का काम न किया जाए, इस घटना की सीबीआई जांच की मांग करते हैं और वहीं  भाजपा के साय सरकार के इस्तीफे की मांग करते हैं कांग्रेसजनो द्वारा मुंह में काली पट्टी बांध कर एवं हाथ में तख्ती लेकर शांति पूर्वक कलेक्टर कार्यालय ज्ञापन सौंपने जा रहे कांग्रेसजनो को पुलिस द्वारा धक्का मुक्की कर रोका गया।विकास उपाध्याय ने कहा कि चार दिन पहले ही छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के द्वारा आव्हान किया गया था की 18 जून को छत्तीसगढ़ प्रदेश के पूरे जिला मुख्यालय में एक दिवसीय धरना दिया जाएगा सूचना देने के बाद भी शासन प्रशासन के लोग बेवजह विकास उपाध्याय को पलारी के पास रोका गया क्यों रोका गया इसका पुलिस के पास किसी भी प्रकार का जवाब नहीं था वही शैलेश नितिन त्रिवेदी छाया विधायक बलोदा बाजार एवं हितेंद्र ठाकुर जिला अध्यक्ष को भी रोका गया भारतीय जनता पार्टी विपक्ष की आवाज को दबाने का प्रयास कर रही है दंगाइयों की आड़ में समाज विशेष को टार्गेट किया जा रहा है
शांतिपूर्ण प्रदेश को आग के हवाले करने का काम भारतीय जनता पार्टी की सरकार कर रही है
बलोदा बाजार कलेक्ट्रेट में 10 जून को हुई हिंसा एवं आगजनी हुए आज लगभग एक सप्ताह से अधिक हो गया लेकिन सरकार आज तक असली दोषियों पर कार्रवाई नहीं कर पाई
विकास उपाध्याय ने बलौदाबाजार भाटापारा जिले के आम जनता से शान्ति व्यवस्था बनाए रखनी की अपील भी की है।उक्त प्रदर्शन में धरना प्रदर्शन कार्यक्रम प्रभारी एवं सांसद प्रत्यासी रहे व पूर्व संसदीय सचिव विधायक विकास उपाध्याय जिला कांग्रेस अध्यक्ष हितेंद्र ठाकुर विधानसभा प्रत्याशी शैलेश नितिन त्रिवेदी सुरेंद्र शर्मा पूर्व विधायक जनक राम वर्मा ब्लॉक अध्यक्ष विक्रम गिरी रूपेश ठाकुर संजय अवस्थी प्रकाश मानिकपुरी दिलीप गुप्ता कुंदन सिंह सहित कांग्रेसजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *