ड्रग्स सप्लायर गैंग के मास्टर माइंड की भिलाई रहवासी गर्ल फ्रेंड भी पूछताछ के दायरे में फंसी

राजधानी रायपुर में पकड़े गए ड्रग्स सप्लायर गिरोह का तार प्रदेश के कई शहरों में फैला हुआ है इसी कड़ी में भिलाई दुर्ग का नैटवर्क सामने आया है। राजधानी रायपुर के एएसपी सिटी लखन पटले से मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली पुलिस ने दो दिन पहले जिस ड्रग पैडलर आशीष को रिसाली भिलाई से पकड़ा था। उसके मोबाइल से हाई प्रोफाइल पार्टी में ड्रग का उपयोग करने वाले बड़े कारोबारी और कॉलेज छात्रों का नाम मिले हैं। नामों की तस्दीक करने के साथ लिस्ट में शामिल 25 लोगों को पूछताछ के लिए रायपुर तलब किया जाएगा। इसके पहले पैडलर की मंगेतर की भूमिका पता लगाने के पूछताछ की जाएगी। पुलिस के मुताबिक गिरोह के मास्टरमाइंड अभिषेक के पकड़े जाने के बाद बाकी पैडलर्स ने अपने मोबाइल का डेटा डिलीट कर दिया है। डेटा रिकवर करने के बाद कई और लोगों के नाम भी सामने आएंगे।

पुलिस की प्राथमिक जांच में पता चला है कि ड्रग पैडलर और उसकी मंगेतर ने मिलकर रायपुर समेत अन्य शहरों में पार्टी अरेंज की थी। ड्रग्स की ज्यादा खपत रिसाली,सिविक सेंटर और दुर्ग में है। स्टांप नाम का ड्रग नागपुर के मोमिनपुरा से मंगाया जाता है। इसके बाद नशा आसानी से पूडिय़ों में बेचा जाता है। कोकीन ,एमडी के बाद स्पांट का नशा पिछले कुछ दिनों से शहर में बड़ी मात्रा में उपयोग किया जा रहा है। इसका उपयोग ज्यादातर कॉलेज के छात्र कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *