भाजपा पहले तय कर ले लॉक डाउन का विरोध करना है या समर्थन तब बयान जारी करे -कांग्रेस

रायपुर/ 19 सितम्बर 2019/नेता प्रतिपक्ष धर्मलाल कौशिक द्वारा रायपुर में लगाये जा रहे सात दिनों के लॉक डाउन को औचित्यहीन बता कर पूरे प्रदेश में लॉक डाउन लगाने की मांग पर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्त सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि पूरी की पूरी भारतीय जनता पार्टी कन्फ्यूज है उन्हें यह समझ नही आ रहा कोरोना मामले में स्टैंड क्या लेना है।पहले भाजपा के नेता आपस मे मिल बैठ कर डिसाइड कर ले कि उन्हें क्या कहना है उसके बाद बयान बाजी करे तो उनकी बातों की कुछ सार्थकता रहेगी ।पिछले कुछ दिनों से भाजपा के ही आधा दर्जन अलग -अलग नेता राजधानी रायपुर में लॉक डाउन लगाने की मांग कर चुके है । भाजपा के मोदी सरकार लॉक डाउन के खिलाफ में फरमान जारी कर राज्यो को लॉक डाउन लगाने के खिलाफ सख्त मनाही की एडवायजरी जारी कर चुकी है। केंद्र सरकार ने बिना उसकी सहमति के पूरे राज्य में लॉक डाउन लगाने की मनाही की है । विभिन्न जिलों का जिला प्रशासन केंद्र के नियमानुसार अपने जिलो में बढ़ती संक्रमण की संख्या के अनुसार कंटेन्मेंट जोन बना कर संक्रमण की चेन तोड़ने हेतु सख्ती लागू कर लॉक डाउन के फैसले ले रहा है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा भाजपा के नेता छत्तीसगढ़ में पूरे राज्य को लॉक डाउन करने की मांग कर रहे ।भाजपा की केंद्र सरकार अनलॉक 4 के नियम जारी कर देश भर में आवाजाही के नियम बनाने तथा मल्टीप्लेक्स सिनेमा घर और क्लबो को खोलने के निर्देश और उसके लिए एडवायजरी जारी कर रही है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बड़े पैमाने पर हुए जन हानि और हाहाकार के बाद भी हमारे प्रधानमंत्री अभी तक कोरोना के मामले न गम्भीर हुए है और न अपनी जिम्मेदारी को समझ रहे हैं।प्रधानमंत्री और भाजपा कोरोना की तबाही को गम्भीरता से लेने को तैयार ही नही है। केंद्र सरकार पूरे देश मे कोरोना से लड़ते दिखाई ही नही दे रही है।
भाजपा की केंद्र सरकार कोरोना से निपटने में उदासीन बनी हुई है और राज्य में भारतीय जनता पार्टी के नेता कोरोना संकट को एक अवसर के रूप में देख रहे हैं ।छत्तीसगढ़ भाजपा का हर नेता सिर्फ राज्य सरकार कोसने को ही अपना कर्तब्य समझ रहा है ।राज्य से भारतीय जनता पार्टी की केंद्रिय मंत्री है 9 सांसद है तीन रास्ट्रीय पदाधिकारी लेकिन किसी ने भी दलीय भावना से ऊपर उठ कर केंद्र सरकार को राज्य की मदद के लिए न कभी पत्र लिखा न कोई दबाव बनाया इन नेताओं ने एक काम जरूर किया जब भी राज्य सरकार कोरोना से लड़ाई में अपने संघीय अधिकार से केंद्र से मदद की बात करेगी तब भाजपा नेता इसके विरोध में जरूर खड़े हो जाते है ।
भाजपा पहले तय कर ले लॉक डाउन का विरोध करना है या समर्थन तब बयान जारी करे -कांग्रेस

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *