बालोद

बालोद जिला टीबी संभावितों की सघन खोज के लिए 2 लाख से अधिक घरों में डोर-टू-डोर सर्वे शुरु
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, बालोद, स्वास्थ-ज्योतिष

बालोद जिला टीबी संभावितों की सघन खोज के लिए 2 लाख से अधिक घरों में डोर-टू-डोर सर्वे शुरु

बालोद, 10 सितंबर 2021। राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में टीबी को खत्म करने के लिए एक बार फिर "टीबी हारेगा बालोद जीतेगा" अभियान का आज शुभारंभ किया गया। लोगों में जनजागरुकता लाने प्रचार-प्रसार के लिए संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद, कलेक्टर जन्मेजय महोबे व सीएमएचओ डॉ.जेपी मेश्राम द्वारा हरी झंडी दिखाकर प्रचार रथ को रवाना किया गया। टीबी की सघन खोज एवं उपचार अभियान 10 सितंबर से 10 अक्टूबर-2021 तक चलाया जाएगा। अभियान के दौरान जिले की 702 गांवों में लगभग 10 लाख की जनसंख्या में टीबी संभावितों को खोजने घर-घर जाकर सर्वे किया जाएगा। दो लाख से अधिक घरों में डोर-टू-डोर सर्वे मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, टीबी चैम्पियन व ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजकों की टीम टीबी के लक्षण वाले मरीजों की पहचान करेगी। इस मौके पर जिला टीबी उन्न्मूलन अधिकारी डॉ. संजीव ग्लैड ने बताया: “जिले में टीबी मरीजों क...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से विश्व आदिवासी दिवस की दी बधाई एवं शुभकामनाए
बालोद

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से विश्व आदिवासी दिवस की दी बधाई एवं शुभकामनाए

मंत्री अनिला भेंडिया ने किया सामुदायिक वन संसाधन अधिकार पत्र और सामुदायिक वन अधिकार पत्र वितरीत सहायक प्राध्यापक के पद पर चयनित चार आदिवासी छात्राओं का हुआ सम्मान जवाहर उत्कर्ष योजना अंतर्गत आदिवासी बालक आश्रम दुर्गीटोला के दो छात्र सम्मानित जनपद पंचायत डौण्डी के सभाकक्ष में कार्यक्रम आयोजित बालोद (IMNB). मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय में विश्व आदिवासी दिवस पर आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेशवासियों को विश्व आदिवासी दिवस की बधाई और शुभकामनाए दी। मुख्यमंत्री ने वर्चुअल माध्यम से बालोद जिले के डौण्डी विकासखण्ड के ग्राम पंचायत सिंघोला के पारा सुकड़ीगुहान के कमार जनजाति के श्री तुलाराम मंडावी से रूबरू चर्चा की। श्री तुलाराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे लोग पहले बांस के सूपा, टोकरी आदि सामान बनाकर विक्रय करते थे जिससे उन्हें प्रतिमाह लगभग दो से ढाई हजार...
मंत्री अनिला भेंडिया ने दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण एवं अन्य सामग्री प्रदान कर किया लाभान्वित
बालोद

मंत्री अनिला भेंडिया ने दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण एवं अन्य सामग्री प्रदान कर किया लाभान्वित

बालोद (IMNB). प्रदेश की महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंडिया ने आज यहाॅ समाज कल्याण विभाग के कार्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम में जिले के 37 दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण एवं अन्य सामग्री प्रदान कर लाभान्वित किया और उन्हें शुभकामनाएॅ दी। मंत्री श्रीमती भेंडिया ने इस अवसर पर कहा कि समाज कल्याण विभाग द्वारा दिव्यांगजनों, निराश्रितों, वरिष्ठ नागरिकों, विधवा व परित्यक्त महिलाओं तथा उभयलिंगी व्यक्तियों के कल्याण एवं समेकित पुनर्वास आदि के लिए विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बालोद जिले में 65 हजार 511 हितग्राहियों को सामाजिक सुरक्षा की परिधि में शामिल कर विभिन्न पेंशन योजनाओं से लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत निःशक्त दम्पत्ति में एक व्यक्ति के निःशक्त होने पर पचास हजार रू...
आईएएस एसोसिएशन ने स्वर्गीय चन्द्रकांत उईके के पत्नी सेकेंड क्लास अफसर बनाने की मांग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से की
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, बालोद, रायपुर

आईएएस एसोसिएशन ने स्वर्गीय चन्द्रकांत उईके के पत्नी सेकेंड क्लास अफसर बनाने की मांग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से की

रायपुर, 21मार्च 2021/ मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल से आज यहाँ उनके निवास कार्यालय में आईएएस एशोसियेशन के अध्यक्ष एवं राजस्व मंडल के अध्यक्ष श्री सी.के.खेतान ने सौजन्य मुलाकात की। श्री खेतान ने बताया कि आईएएस अधिकारी स्वर्गीय श्री चन्द्रकान्त उइके की मृत्यु 14 दिसंबर 2019 को हो गयी है, जिनकी पत्नी श्रीमती रमा उइके एम.कॉम, एल.एल.बी की शैक्षणिक योग्यता रखती हैं तथा पुत्र बारहवीं कक्षा में अध्ययनरत है। छत्तीसगढ़ आईएएस एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री श्री बघेल से श्रीमती रमा उइके को द्वितीय श्रेणी (महिला एवं बाल विकास या आदिम जाति कल्याण विभाग) पद पर अनुकम्पा नियुक्ति दिए जाने का आग्रह किया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने स्वर्गीय श्री उइके के पुत्र की उच्च शिक्षा के लिए आईएएस एसोसिएशन की ओर से 10 लाख रुपए का चेक श्रीमती रमा उइके को भेंट कर उनके पुत्र के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। आईएएस एसोसिएशन ...
खारून नदी का देवरानी-जेठानी नाला से क्षेत्र के कृषक गढ़ेंगे अब नई कहानी, पाटन और गुरूर ब्लॉक के 5 किलोमीटर भू-भाग में जल आवर्धन का हुआ कार्य
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, दुर्ग, धमतरी, बालोद

खारून नदी का देवरानी-जेठानी नाला से क्षेत्र के कृषक गढ़ेंगे अब नई कहानी, पाटन और गुरूर ब्लॉक के 5 किलोमीटर भू-भाग में जल आवर्धन का हुआ कार्य

      रायपुर, 20 फरवरी 2021/छत्तीसगढ़ की राजधानी से होकर गुजरने वाली देवरानी-जेठानी नाला से अब पाटन और गुरूर ब्लॉक के कृषक अच्छा लाभ उठाते हुए अपनी नई कहानी गढ़ेंगे। यह राज्य शासन की महत्वकांक्षी ‘नरवा विकास योजना’ के तहत कैम्पा मद से 01 करोड़ 34 लाख रूपए की लागत राशि से 406 भू-जल आवर्धन संबंधी संरचनाओं के निर्माण से संभव हो पाया है।          वन मंत्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में छत्तीसगढ़ राज्य प्रतिकरात्मक वन रोपण निधि प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण के अंतर्गत प्रदेश के वन क्षेत्रों के नाला में काफी तादाद में भू-जल आवर्धन संबंधी संरचनाओं का निर्माण तेजी से जारी है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री राकेश चतुर्वेदी ने बताया कि देवरानी-जेठानी नाला दुर्ग जिले के पाटन और बालोद जिले के गुरूर क्षेत्र में पानी का महत्वपूर्ण स्रोत है। इसे ध्यान में रखते हुए कैम्पा के 2019-20 की वार्षिक कार्ययोजना...
पाटेश्वर धाम को वन विभाग की नोटिस साजिश,भड़का संत समाज
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, दुर्ग, धमतरी, बालोद, रायपुर

पाटेश्वर धाम को वन विभाग की नोटिस साजिश,भड़का संत समाज

 राजेश्वरानंद संत महासभा प्रदेश अध्यक्ष अंतर्राष्ट्रीय हिंदू महासभा प्रदेश अध्यक्ष मनोज कुमार अग्रवाल श्री उमाकांत मिश्रा भागवताचार्य अजय शरण देवाचार्य आचार्य रवि कांत शास्त्री दिनेश तिवारी पंडित शिवानंद शास्त्री एवं संत समाज के पदाधिकारी गण श्री पाटेश्वर धाम जाकर के महाराज बालयोगेश्वर राम बालक दास जी महा त्यागी जी से मुलाकात की एवं पूर्ण समर्थन देते हुए स्वामी जी ने कहा कि पूरा छत्तीसगढ़ प्रदेश अपितु पूरा भारत देश के सभी संत समाज हिंदू समाज ब्राह्मण समाज आपके साथ खड़ा रहेगा विदित हो कि पाटेश्वर धाम जिला बालोद छत्तीसगढ़ में श्री राम जानकी दास जी महत्यागी की तपस्थली है इस स्थान पर संपूर्ण देश भर के भक्तों द्वारा दिए गए दान की राशि से मां कौशल्या जन्मभूमि का भव्य मंदिर का निर्माण स्वामी राम बालक दास जी के मार्गदर्शन में किया जा रहा है लेकिन सितंबर माह 2020 से बालोद जिला वन विभाग के डीएफओ द्व...
संत जुटे ऑनलाइन, शराब पीए बिना जनता रह सकतीहै 45दिन लेकिन सरकार शराब बेचे बिना नही रह सकती है,साधु संतों ने किया जोरदार विरोध
छत्तीसगढ़ प्रदेश, दुर्ग, धमतरी, बालोद, महासमुंद, रायपुर

संत जुटे ऑनलाइन, शराब पीए बिना जनता रह सकतीहै 45दिन लेकिन सरकार शराब बेचे बिना नही रह सकती है,साधु संतों ने किया जोरदार विरोध

बालयोगेश्वर संत श्री राम बालक दास जी एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश संत महासभा के प्रदेश अध्यक्ष स्वामी राजेश्वरानंद के सानिध्य में* पाटेश्वर धाम जिला बालोद छत्तीसगढ़ द्वारा लॉक डाउन के इस विपरीत परिस्थिति में भी प्रतिदिन व्हाट्सएप के माध्यम से ऑनलाइन सत्संग परिचर्चा श्री सीता रसोई संचालन ग्रुप एवं मंडलाधिकारी पाटेश्वर धाम ग्रुप के साथ अन्य कई ग्रुपों में रोज वाट्सएप के माध्यम से आयोजित किया जा रहा है आज आज सुबह 10:00 से 11:00 बजे सीता रसोई ग्रुप में परिचर्चा का आयोजन किया गया जिस ग्रुप में पाटेश्वर सेवा संस्थान के संचालक रामबालक दास जी ने छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी के काल में भी शराब की दुकानों को प्रदेश सरकार द्वारा खोले जाने का घोर विरोध करते हुए निंदा प्रस्ताव रखा पाटेश्वर सेवा संस्थान के द्वारा रखे गए इस निंदा प्रस्ताव के ऊपर आज बहुत से लोगों ने अपने विचार रखे बाबा राम बालक दास जी ने कहा क...
शराब दुकान खोलने पर माकपा ने पूछा — भूपेश सरकार की प्राथमिकता क्या है : कोरोना या मोरोना
कवर्धा, कांकेर, कोंडागांव, कोरबा, कोरिया, खास खबर, गरियाबंद, छत्तीसगढ़ प्रदेश, जगदलपुर, जशपुर, जांजगीर – चाम्पा, दंतेवाड़ा, दुर्ग, धमतरी, नारायणपुर, बलरामपुर, बलोदा बाज़ार, बालोद, बिलासपुर, बेमेतरा, महासमुंद, मुंगेली, राजनांदगांव, रायगढ़, रायपुर, सरगुजा-अंबिकापुर

शराब दुकान खोलने पर माकपा ने पूछा — भूपेश सरकार की प्राथमिकता क्या है : कोरोना या मोरोना

  *मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी* ने कोरोना महामारी के मद्देनजर लॉक डाऊन के दौरान शराब दुकानें खोले जाने के राज्य सरकार के फैसले की तीखी निंदा की है और पूछा है कि सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि उसकी प्राथमिकता क्या है : कोरोना या मोरोना? पार्टी ने कहा है कि आम जनता की जिंदगी की कीमत पर मुनाफा कमाने की सरकार को इजाजत नहीं दी जा सकती। आज यहां जारी एक बयान में माकपा राज्य सचिव मंडल ने कहा है कि लॉक डाऊन के दौरान प्रदेश की 80% आबादी के सामने आजीविका बर्बाद होने के कारण रोजी-रोटी की समस्या आ खड़ी हुई है। अभी तक सरकार ने दो माह के मुफ्त अनाज की घोषणा के अलावा आम जनता को राहत देने के कोई भी कदम नहीं उठाए हैं। मुफ्त राशन वितरण में भी आदिवासी अंचलों में भारी गड़बड़ियां होने की शिकायतें सामने आ रही है। लॉक डाऊन के दौरान सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर तबकों और बेसहारा लोगों के लिए भोजन की व...